Home /News /jharkhand /

15 लाख के वांछित नक्सली से माता-पिता ने की सरेंडर करने की भावुक अपील

15 लाख के वांछित नक्सली से माता-पिता ने की सरेंडर करने की भावुक अपील

एसएसपी पूर्वी सिंहभूम अनूप बिरथरे नक्सली सचिन के पिता से बात करते हुए

एसएसपी पूर्वी सिंहभूम अनूप बिरथरे नक्सली सचिन के पिता से बात करते हुए

15 लाख के वांछित नक्सली रामप्रसाद मार्डी उर्फ सचिन मार्डी के माता पिता और अन्य परिजनों ने उससे सरेंडर की अपील की है. उन्होंने कहा है कि देखो घर बार-बार की कुर्की से टूट चुका है. बहन की अब तक शादी नहीं हो पाई है.

    15 लाख के वांछित नक्सली रामप्रसाद मार्डी उर्फ सचिन मार्डी के माता पिता और अन्य परिजनों ने उससे सरेंडर  की अपील की है. उन्होंने कहा है कि देखो घर बार-बार की कुर्की से टूट चुका है. बहन की अब तक शादी नहीं हो पाई है. घर में मुश्किलें बेंतिहा हैं. बुधवार को पूर्वी सिंहभूम जिला प्रशासन खुद नक्सली सचिन के गांव पहुंचा. यहां एसएसपी अनूप बिरथरे ने कम्युनिटी पुलिसिंग के तहत ग्रामीणों में सामग्री वितरित किया. इसी बीच उन्होंने सचिन के माता पिता से उसे सरेंडर कराने में पुलिस प्रशासन को मदद करने की अपील की. फिर क्या था नक्सली के परिजनों के दर्द आंसू के रूप में छलक पड़े और उन्होंने यह भावुक अपील की.

    पूर्वी सिंहभूम जिले के बंगाल-झारखंड बॉर्डर एरिया में सक्रिय दामपाड़ा दस्ते के हार्डकोर नक्सली सचिन मार्डी पटमदा प्रखंड के अंतर्गत गांव झूझका का है. 15 लाख के इस इनामी नक्सली के घर की बार बार कुर्की होती है. घर टूट चुका है और हालात से उसके परिजन भी टूट चुके हैं. नक्सली का ठप्पा लग जाने से बड़ी बहन की आज तक शादी नहीं हो पाई. परिवार में किसी को नौकरी नहीं है. किसी तरह खेती से गुजर बसर हो रहा है. आज एसएसपी अनूप बिरथरे नक्सली सचिन मार्डी के परिवार से संपर्क साधने पहुंचे तो माहौल भावुक हो उठा. एसएसपी ने सचिन के पिता सनातन मार्डी और मात पानसुरी सोरेन से निवेदन किया कि वे अपने बेटे को सरेंडर कराने में पुलिस की मदद करें.यह उनके और सचिन सभी के हित में होगा.

    छोटे भाई की नवविवाहिता पत्नी और घर की बहू सरिता मार्डी ने बताया कि बार बार की कुर्की में उसके कई सामान चले गए. नई बहू ने भी अपील की है कि सचिन मार्डी सरेंडर कर दे ताकि परिवार पर आफत न आए. गौरतलब है कि सरेंडर करने पर इनाम की राशि नक्सली को ही मिल जाती है जिसका फायदा परिवार को पहुंचता है.जिला पुलिस और सीआरपीएफ घाटशिला के गुड़ाबांधा के हार्ड कोर नक्सली कान्हू मुंडा का उदाहरण देकर इन लोगों को समझा रही है कि कैसे कान्हू की तरह सचिन भी सरेंडर पॉलिसी का फायदा उठा सकता है.पुलिस गांव के बच्चों के साथ विशेष संपर्क साध रही है क्योंकि यही नई पीढ़ी है जिसे  नक्सलवाद के दलदल से बचाना जरूरी है.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर