सुषमा स्वराज की पहल पर 4 साल बाद इस परिवार में लौटी थीं खुशियां, बेटे की हुई थी वतन वापसी

शेख शमरूद्दीन कहते हैं कि उन्हें उम्मीद नहीं थी कि उनका बेटा कभी घर लौट पाएगा. लेकिन सुषमा स्वराज की पहल के चलते जावेद चार महीने में घर लौट आया. गरीबों का मसीहा इस दुनिया से चली गईं.

News18 Jharkhand
Updated: August 7, 2019, 12:36 PM IST
सुषमा स्वराज की पहल पर 4 साल बाद इस परिवार में लौटी थीं खुशियां, बेटे की हुई थी वतन वापसी
सुषमा स्वराज की पहल पर 2017 में शेख शमरूद्दीन का बेटा सऊदी अरब से घर लौट पाया था
News18 Jharkhand
Updated: August 7, 2019, 12:36 PM IST
पूर्वी सिंहभूम के मुसाबनी प्रखंड के बदिया गांव के रहने वाले शेख शमरूद्दीन पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को कभी नहीं भूल पाएंगे. क्योंकि आज उनका बेटा मो. जावेद उनके साथ हैं, तो इसकी बड़ी वजह सुषमा स्वराज थीं. चार साल तक सऊदी अरब में फंसे होने के बाद मो. जावेद की वतन वापसी विदेश मंत्री के तौर पर सुषमा स्वराज की पहल पर ही संभव हो पाई.

सुषमा स्वराज की पहल पर वतन लौटा था जावेद

शेख शमरूद्दीन का बेटा मो. जावेद वर्ष 2013 में सऊदी अरब काम करने गया था. लेकिन वहां कंपनी के मालिक ने उसका पासपोर्ट जब्त कर लिया. पासपोर्ट जब्त होने के कारण जावेद वतन नहीं लौट पा रहा था. इसी तरह चार साल गुजर गये. एक दिन उसने घरवालों से अपनी पीड़ा बतायी. इसके बाद पिता शेख शमरूद्दीन ने स्थानीय सांसद विद्युत वरण महतो के माध्यम से विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से गुहार लगायी. सुषमा स्वराज ने पत्र के माध्यम से शमरूद्दीन को भरोसा दिलाया कि उनका बेटा अवश्य घर लौटेगा. सुषमा स्वराज की पहल पर चार महीने बाद मो. जावेद घर लौट आया.

samaruddin
विदेश मंत्रालय के पत्र को दिखाते शेख शमरूद्दीन


'गरीबों का मसीहा थीं सुषमा'

आज यह परिवार पूर्व विदेश मंत्री के आकस्मिक निधन पर दुखी है. शेख शमरूद्दीन कहते हैं कि उन्हें उम्मीद नहीं थी कि उनका बेटा कभी घर लौट पाएगा. लेकिन सुषमा स्वराज की पहल के चलते ही जावेद चार महीने में घर लौट गया. शमरूद्दीन की माने तो गरीबों का मसीहा इस दुनिया से चली गईं.

मो. जावेद ने भी सुषमा स्वराज के निधन पर दुख जताया. उसने कहा कि आज वह परिवार के साथ हैं, तो यह सुषमा स्वराज के चलते ही संभव हो पाया.
Loading...

बता दें कि मंगलवार रात दिल्ली के एम्स में दिल का दौरा पड़ने से सुषमा स्वराज का निधन हो गया. वह 67 साल की थीं. देश की विदेश मंत्री और दिल्ली की मुख्यमंत्री के तौर पर उनके कामों को लोग सदा याद रखेंगे. आज शाम उनका दिल्ली के लोधी रोड शवदाह गृह में अंतिम संस्कार किया जाएगा.

रिपोर्ट- प्रभंजन कुमार

ये भी पढ़ें- सुषमा स्वराज के साथ की पुरानी तस्वीर साझा कर सीएम रघुवर दास ने लिखा- दीदी आप बहुत याद आएंगी

सुषमा स्वराज के निधन पर भावुक हुए सीएम रघुवर दास, प्रदेश बीजेपी के सारे कार्यक्रम रद्द

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पूर्वी सिंहभूम से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 7, 2019, 12:31 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...