Home /News /jharkhand /

रोजगार के लिए दिल्ली गई सीमा को मिली मौत

रोजगार के लिए दिल्ली गई सीमा को मिली मौत

सरिता गुडूंग
मृतिका की बहन

सरिता गुडूंग मृतिका की बहन

सीमा थापा को डेढ़ साल पहले उसी गांव के सुनीता बहादुर नामक महिला एजेंट रोजगार के नाम पर दिल्ली ले गई.

    पूर्वी सिंहभूम के घाटशिला मुसाबनी के मोहनडेरा गांव की सीमा थापा की मौत दिल्ली के कुतूबमीनार गेट के समक्ष सफदरजंग अस्पताल में हो गई. सीमा की लाश अब भी अस्पताल के वार्ड नंबर 12 और बेड नंबर 20 में पड़ी है. परिजनों के पास बार बार फोन आ रहा है कि शव को ले जाएं. इधर परिजनों के पास रूपए नहीं हैं कि वे लाश को ले आएं. परिजन मुसाबनी प्रखंड विकास पदाधिकारी से लेकर डीएसपी तक गुहार लगा रहे हैं. खबर पाकर प्रसासनिक पदाधिकारियों ने इसे गंभीरता से लेते हुए मामले की छानबीन शुरू कर दी है.

    मालूम हो कि मुसाबनी मोहनडेरा गांव की रहने वाली सीमा थापा को डेढ़ साल पहले उसी गांव के सुनीता बहादुर नामक महिला एजेंट रोजगार के नाम पर दिल्ली ले गई. इसके बाद सीमा का परिजनों से बीच बीच में संपर्क होता रहा. लेकिन किसी तरह का कोई रूपया सीमा थापा ने अपने घर नहीं भेजा. 15 जनवरी से एक दिन पहले सीमा की बहन सरिता गुडूंग को फोन आया कि उसकी बहन बीमार है और उसे ईलाज के लिए अस्पताल में भर्ती किया गया है. वहां पर सरिता ने देखा की बहन मूर्छित हालत में बेड पर पड़ी है. होश आने पर सीमा ने बताया कि उसका शारीरिक शोषण किया जाता था.

    बीमारी की हालत में बहन को छोड़ कर सरिता रूपयों का जुगाड़ करने वापस आ गई. लेकिन इसी बीच उसे खबर मिली कि उसकी बहन की मौत हो गई है. बहन सरिता , जीजा विष्णु बहादुर अब न्याय की गुहार लगा रहे हैं . शव को लाने के लिए प्रशासन से मदद मांग रहे हैं. बहन सरिता गुडूंग ने कहा कि हमें इंसाफ चाहिए. मेरी बहन के साथ जैसी घटना घटी वैसी घटना किसी और के साथ न घटे, झारखंड में या झारखंड से बाहर भी नहीं. मेरी बहन बेमौत मारी गई है. यानि एक बार फिर झारखंड की बेटी को रोजगार के नाम पर दिल्ली में मौत मिली है. इससे पहले भी रोजगार के नाम पर झारखंड के युवक - युवतियों की मौत की खबर आते रही है.

    Tags: Human trafficking, झारखंड

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर