Home /News /jharkhand /

जन संसाधन मंत्रालय ने डैम निर्माण को लेकर दिलाया विश्वास, कहा- नहीं होगा कोई नुकसान

जन संसाधन मंत्रालय ने डैम निर्माण को लेकर दिलाया विश्वास, कहा- नहीं होगा कोई नुकसान

जन संसाधन मंत्रालय ने डैम निर्माण को लेकर दिलाया विश्वास, कहा- नहीं होगा कोई नुकसान

जन संसाधन मंत्रालय ने डैम निर्माण को लेकर दिलाया विश्वास, कहा- नहीं होगा कोई नुकसान

चेक डैम निर्माण को लेकर जन संसाधन के एसडीओ , मुसाबनी प्रखंड विकास पदाधिकारी समेत अन्य कर्मचारी दासाडीह गांव पहुंचे और डैम से संबधित जुड़े सवालों की ग्रामीणों को जानकारी दी.

झारखंड के पूर्वी सिंहभूम के डुमरिया प्रखंड के दासाडीह गांव के फुटबॉल मैदान में ग्रामीणों ने जल संसाधन मंत्रालय से बनने वाली चेक डैम निर्माण का विरोध किया. ग्रामीणों के विरोध पर जन संसाधन के एसडीओ , मुसाबनी प्रखंड विकास पदाधिकारी समेत अन्य कर्मचारी दासाडीह गांव पहुंचे और ग्रामीणों की बातें सुनीं, एक जन सभा आयोजित कर ग्रामीणों ने पदाधिकारियों को अपनी बातें सुनाई.

ग्रामीणों ने कहा कि गांव बीते आठ माह से डैम निर्माण को लेकर सर्वे किया जा रहा है,  गांव के शंख नदी पर पानी का लेवल जांच किया जा रहा है, सर्वे के दौरान ही निर्माण कर्मी गांवों का भी सर्वे कर रहे है, जिससे उन्हें डर है कि डैम बड़े पैमाने पर बन रहा है, जिसके बनने से गांव डूब जाएंगे. गांव डूबने के भय से पर 14 मौजा गांव के ग्रामीणों ने एक साथ बैठक कर डैम निर्माण का विरोध जताया.

ग्रामीणों का नेतृत्व करते हुए झामुमो के जिला उपाध्यक्ष सागेन पूर्ति ने कहा बिना ग्राम सभा किए बिना ही डैम निर्माण के लिये सर्वे किया जा रहा है और डैम निर्माण के बारे में भी सर्वे कर्मी कुछ बताने से परहेज कर रहे है, जिससे गांव के लोगों में दहशत है. सागेन पूर्ति ने कहा कि यदि चेक डैम छोटे स्तर का बनाया जाए तो कोई आपत्ति नहीं, लेकिन बड़े स्तर से बनने से कई गांव डूबने की आशंका को लेकर ग्रामीण चिंतित है.

सागेन पुर्ति ने कहा कि इसके लिए उन्होंने 14 मौजा के ग्राम प्रधानों के साथ बैठक कर यह तय किया जाएगा कि डैम बनना चाहिए या ना नहीं, पहले ग्राम सभा में ग्रामीणों की राय ली जाएगी इसके बाद ही डैम का निर्माण होगा,  तब तक के लिए उन्होंने प्रशासन से निर्माण व सर्वे कार्य को बंद करने का आग्रह किया है.

डैम निर्माण को लेकर ग्रामीणों के साथ जल संसाधन के जमशदपुर एसडीओ नागेंद्र कुमार, डुमरिया बीडीओ मुरली यादव प्रखंड के अन्य कर्मचारियों के साथ बैठक कर ग्रामीणों की बाते सुनी. एसडीओ नागेंद्र कुमार ने कहा कि डैम का निर्माण होने से किसी प्रकार का नुकसान ग्रामीणों को नहीं होगा और डैम छोटा बनाया जाएगा, इसके लिए सर्वे किया जा रहा है और डीपीआर भी बनेगा, साथ ही कहा कि यहां कोई जल श्रोत नहीं है, इसलिए यहां डैम निर्माण किया जा रहा है, ताकि ग्रामीणों को पानी की समस्या दूर हो सके.

यह भी पढ़ें-  घाटशिला: डैम निर्माण को लेकर ग्रामीणों का विरोध, कहा- गांव डूबने का है डर

यह भी पढ़ें-  घाटशिला: नाली की बदबू से जनता परेशान, ले रही प्रत्याशियों से हिसाब-किताब

Tags: Ghatshila, Jharkhand news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर