घरबार छोड़कर गुफाओं में रहने आ गये आदिवासी परिवार, कारण जानकर हो जाएंगे हैरान
East-Singhbum News in Hindi

घरबार छोड़कर गुफाओं में रहने आ गये आदिवासी परिवार, कारण जानकर हो जाएंगे हैरान
पोटका संजीव सरदार ने गुफा पहुंचकर सबर परिवारों को राहत साम्रगी दी

बीते दस साल से दो सबर परिवार (Sabar Family) के सात लोग पहाड़ी की गुफा (Cave) में रहते आ रहे हैं. इनके पास ओडिशा का आधार और राशन कार्ड हैं.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
पूर्वी सिंहभूम. जिले के डुमरिया प्रखंड में झारखंड-बंगाल बॉर्डर पर लखाईडीह गांव के पास पहाड़ी की गुफाओं (Caves) में दो सबर परिवार (Sabar Family) के रहने की खबर न्यूज-18 पर प्रसारित होने के बाद प्रशासन हरकत में आया. बीडीओ और पोटका विधायक संजीव सरदार ने गुफा जाकर निरीक्षण किया. इस दौरान दोनों ने बताया कि गुफा ओडिशा की सीमा में स्थित है. विधायक ने सबर परिवारों से जाना कि उन्हें ओडिशा सरकार (Odisha Government) की तरफ से सरकारी राशन मिलता है या नहीं. हालांकि परिवार ने राशनकार्ड दिखाते हुए बताया कि उन्हें ओडिशा सरकार की ओर से सरकारी चावल मिलता है.

घरबार छोड़कर गुफा में रहने आ गये 

गुफा में रहने का कारण बताते हुए सबर परिवार ने बताया कि वे जहां रहते थे, वहां हमेशा लड़ाई-झगड़ा होता रहता था. इस कारण वे लोग पूरे परिवार के साथ जंगल में रहने आ गये. अब वे यहीं रहना चाहते हैं. इनकी देखादेखी एक और सबर परिवार गुफा के करीब झोपड़ी बनाकर रहने आ गया. यह परिवार लखाईडीह गांव का रहने वाला है. लेकिन अब गांव में नहीं रहना चाहता.



विधायक ने दी राहत सामग्री



बीते दस साल से दो सबर परिवार के सात लोग पहाड़ी की गुफा में रहते आ रहे हैं. इनके पास ओडिशा का आधारकार्ड और राशनकार्ड है. विधायक संजीव सरदार ने कहा कि गुफा में ओडिशा के रहने वाले दो सबर परिवार के सात लोग रह रहे हैं. इन्हें ओडिशा सरकार से चावल मिलता है. पर अन्य सुविधाएं नहीं मिली हैं. यह दुख की बात है कि आज के युग में ये सबर परिवार गुफाओं में रहने को मजूबर है. विधायक ने कहा कि वे इस सिलसिले में मयूरभंज जिला के डीसी से और वहां के विधायक से बात करेंगे. दोनों परिवारों को राहत सामग्री दी गई, जिससे उन्हें लॉकडाउन में खाने की तकलीफ ना हो.

रिपोर्ट- प्रभंजन कुमार

ये भी पढ़ें- चमत्कार! कोरोना पॉजिटिव मांओ के पास रहकर भी नवजात नहीं हुए संक्रमित

 

 
First published: May 25, 2020, 12:01 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading