शादी के घर में खूनी खेल, संपत्ति विवाद में मां- बेटे की निर्मम हत्या

पुलिस के मुताबिक शुक्रवार तड़के आरोपी चाचा ने पहले खाट पर सोई भाभी की गला रेतकर हत्या की, फिर भतीजे को भी चाकू गोदकर मार डाला. घटना के बाद शादी की खुशी गम में बदल गई.

News18 Haryana
Updated: August 2, 2019, 2:31 PM IST
शादी के घर में खूनी खेल, संपत्ति विवाद में मां- बेटे की निर्मम हत्या
संपत्ति विवाद में चाचा ने की भाभी- भतीजे की हत्या
News18 Haryana
Updated: August 2, 2019, 2:31 PM IST
पूर्वी सिंहभूम के घाटशिला के डुमरिया थाना इलाके में संपत्ति विवाद में मां और बेटे की हत्या कर दी गई. घटना चिगड़ा गांव की है. हत्या के बाद आरोपी सगे चाचा ने खुद को पुलिस के हवाले कर दिया. मृतक हेमो टुडू की आज शादी होने वाली थी. घर में शादी को लेकर सारी तैयारियां थीं.

शादी के घर में खूनी खेल 

पुलिस के मुताबिक शुक्रवार तड़के आरोपी चाचा ने पहले खाट पर सोई भाभी की गला रेतकर हत्या की, फिर भतीजे को भी चाकू गोदकर मार डाला. घटना के बाद घर और गांव में मातम पसर गया. शादी की खुशी गम में बदल गई.

सूचना पर डुमरिया थाने की पुलिस गांव पहुंची और शवों को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. पुलिस ने इस सिलसिले में 6 लोगों को हिरासत में लिया है. जिस लड़की से शादी होने वाली थी, उससे भी पुलिस ने पूछताछ की है.

police
मामले की जांच करती पुलिस


संपत्ति को लेकर था विवाद 

मृतक हेमो टुडू के पिता कादे टुडू ने दो शादियां की थीं. कादे टुडू पुलिस का जवान था. उनकी मौत के बाद संपत्ति और जमीन को लेकर दोनों पत्नियों में विवाद शुरू हो गया. इस बीच छोटी पत्नी आरती टुडू ने कादे टुडू के भाई रतन टुडू से शादी रचा ली. इसके बाद संपत्ति को लेकर रतन टुडू और भाभी कापरा टुडू के बीच विवाद जारी था.
Loading...

मृतका कापरा टुडू बेटे हेमो टुडू के साथ चाईबासा में रहती थीं. बेटे की शादी को लेकर वह गांव आयी थी. लेकिन शादी से पहले ही मां और बेटे की हत्या कर दी गई. हत्या के बाद आरोपी चाचा ने डुमरिया थाना पहुंचकर खुद को पुलिस के हवाले कर दिया.

चाचा रतन टुडू ने बताया कि उसे भाभी और हेमो हमेशा परेशान करते थे. इसी के चलते उसने दोनों की हत्या कर दी. मुसाबनी डीएसपी पितांबर खेरवाल ने कहा कि हत्या के पीछे संपत्ति विवाद का मामला सामने आया है. आगे जांच जारी है.

रिपोर्ट- प्रभंजन कुमार

ये भी पढ़ें- महंगी बिजली के कारण 25 कंपनियां बंद, 30 हजार मजदूर हुए बेरोजगार

हेमंत सोरेन ने खुली चिट्ठी लिखकर सीएम रघुवर दास से पूछा, ये कैसा विकास कि लोग कर रहे हैं आत्महत्या

 
First published: August 2, 2019, 2:28 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...