Home /News /jharkhand /

यहां ग्रामीणों को 30 साल बाद मिलेगा बांस के पुल से छुटकारा

यहां ग्रामीणों को 30 साल बाद मिलेगा बांस के पुल से छुटकारा

ग्रामीणों को 30 साल बाद मिलेगा बांस के पुल से छुटकारा

ग्रामीणों को 30 साल बाद मिलेगा बांस के पुल से छुटकारा

करोड़ों की लागत से बनने वाले पुल का सांसद विद्युत वरण महतो और पोटका विधायक मेनका सरदार आज शिलान्यास करेंगे.

    झारखंड में पूर्वी सिंहभूम के डुमरिया शंख नदी पर बीते 30 साल से बांस की पुलिया पर आना-जाना कर रहे ग्रामीणों को बहुत जल्द बांस की पुलिया से छुटकारा मिल जायेगा. करोड़ों की लागत से बनने वाले पुल का सांसद विद्युत वरण महतो और पोटका विधायक मेनका सरदार आज शिलान्यास करेंगे. पुल बनने से ग्रामीणों में खुशी है और वे सासंद, विधायक को धन्यवाद दे रहे है.

    डुमरिया प्रखंड के जादूगोडा समेत 15 से 20 गांव के ग्रामीणों का शख नदी पार मुसाबनी प्रखंड आना-जाना होता है. गांव के बच्चे भी मुसाबनी हाई स्कूल और कॉलेज के लिये शख नदी पार करते हैं. बरसात के समय पानी भर जाने से माता-पिता अपने बच्चों को डेगची में बैठकर नदी पा कराते हैं. नदी में पानी कम होने पर ग्रामीण प्रत्येक साल बांस की पुलिया बनाने है ताकि स्कूल के बच्चों को पानी में भीगना नही पड़े. बीते तीस साल से ग्रामीण शख नदी पर पुल निर्माण की मांग कर रहे थे, जो अब पूरा हो रहा है. न्यूज 18 समय-समय पर प्रमुखता से ग्रामीणों की समस्याओं को उजागर करता आया है. पुल बनने पर ग्रामीणों ने न्यूज 18 को भी धन्यवाद दिया है.

    बता दें कि बांस की हर साल ग्रामीण मिलकर बांस का पुल बनाते थे, लेकिन तेज बहाव के समय में पुल बह जाता था. ग्रामीणों को हर साल मेहनत करनी पड़ती थी. लेकिन अब कंक्रीट का पुल बनने पर ग्रामीण बेहद खुश हैं.

    ये भी पढ़ें- राहुल गांधी का झारखंड दौरा तय, इस दिन करेंगे रांची में विशाल जनसभा

    ये भी पढ़ें- लोकसभा चुनाव: कांग्रेस में एक अनार, सौ बीमार जैसे हालात, एक-एक टिकट के लिए 6- 6 दावेदार

    दिल्ली में राहुल गांधी से मिले जेएमएम सांसद, बोले- सीटों के तालमेल पर जारी है बातचीत

    Tags: Jharkhnad news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर