लाइव टीवी

अतिक्रमण हटाने के दौरान दुकानदारों और प्रशासन में झड़प

Shailesh Kumar | News18 Jharkhand
Updated: September 29, 2018, 11:26 PM IST
अतिक्रमण हटाने के दौरान दुकानदारों और प्रशासन में झड़प
अतिक्रमण हटाता नगर प्रशासन का बुलडोजर

जिस नगर निगम को आजतक वह कर चुकाते आए, उसने शनिवरा को उनकी दुकानों पर बेहरमी से बुलडोजर चला दिया.प्रशासन को बस स्टैंड के दुकानदारों के विरोध का सामना करना पड़ा.इससे कुछ देर के लिए अफरातफरी मच गई. लोग इधर-उधर भागने लगे.दोनों पक्षों में जमकर झड़प हुई. इसमें कुछ अधिकारी व कर्मियों को चोटें भी आईं.

  • Share this:
जिस नगर निगम को आजतक वह कर चुकाते आए, उसने शनिवरा को उनकी दुकानों पर बेहरमी से बुलडोजर चला दिया.गढ़वा जिला प्रशासन द्वारा शहर में तीन दिनों से चलाये जा रहे अतिक्रमण हटाओं अभियान के दौरान जब अभियान बस स्टैंड पहुंची तो प्रशासन को बस स्टैंड के दुकानदारों के विरोध का सामना करना पड़ा.इससे कुछ देर के लिए अफरातफरी मच गई. लोग इधर-उधर भागने लगे.दोनों पक्षों में जमकर झड़प हुई. इसमें कुछ अधिकारी व कर्मियों को चोटें भी आईं.

यह दुकानदार जो वर्षों से बस स्टैंड मे दुकान लगाकर अपना जीवन यापन कर रहे थे, उन्हें जिला प्रशासन द्वारा दो दिनों में स्थान खाली करने का आदेश दिया गया.लेकिन दुकानदारों ने और दिनों की तरह इस चेतावनी को हल्के में समझकर अनसुना कर दिया.प्रशासन जब बुलडोजर लेकर दुकान हटाने पहुंची तो दुकानदार अपने आप पर आ गए और प्रशासन पर पत्थर चलाने लगे जिसके बाद पुलिस लाइन से जवान को बस स्टैंड बुलाया गया.

तनाव बढ़ने के बाद जवानों ने कमान संभाली. उसके बाद बस स्टैंड परिसर मे अवैध रूप से दुकान लगाने वालों को एक-एक कर हटाया गया.इस बस स्टैंड के दुकानदार से नगर परिषद टैक्स के रूप मे पैसा लेती थी लेकिन अब अपनी जिम्मेवारी से पल्ला झाड़ रही है.प्रशासनिक अधिकारी की मानें तो शहर से जब तक अतिक्रमण नहीं हटेगा तह तक यह अभियान चलाया जाएगा.

यह भी पढ़ें - झारखंड हाईकोर्ट ने भी शादी के एक साल बाद तलाक को माना वैध

यह भी पढ़ें - महिला के नेत्रदान करने वाले परिवार को रिम्स में स्वास्थ्य सचिव ने किया सम्मानित

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गढ़वा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 29, 2018, 11:26 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...