• Home
  • »
  • News
  • »
  • jharkhand
  • »
  • वन विभाग के पेंच के कारण झारखंड को छत्तीसगढ़ से जोड़ने वाले पुल का निर्माण रूका

वन विभाग के पेंच के कारण झारखंड को छत्तीसगढ़ से जोड़ने वाले पुल का निर्माण रूका

पुल का रूकने से दोनों राज्यों के लोगों में निराश है.

पुल का रूकने से दोनों राज्यों के लोगों में निराश है.

Garhwa News: झारखंड और छत्तीसगढ़ के बीच दूरी कम हो, इस उद्देश्य से कनहर नदी पर झारखंड सरकार पुल का निर्माण करवा रही थी. लेकिन टेंडर अलॉट होने के बाद काम शुरू होते ही वन विभाग ने अड़ंगा लगा दिया. इससे काम रोकना पड़ा.

  • Share this:

    रिपोर्ट- चंदन कश्यप

    गढ़वा. झारखंड को छत्तीसगढ़ से जोड़ने वाले पुल का काम वन विभाग की आपत्ति के कारण अधर में लटक गया. गढ़वा के धुरकी थानाक्षेत्र के बालचौरा गांव में कनहर नदी पर पुल का निर्माण किया जा रहा था, लेकिन वन विभाग ने इसमें पेंच फंसा दिया. इससे पुल का काम रूक गया है.

    झारखंड और छत्तीसगढ़ के बीच दूरी कम हो, इस उद्देश्य से कनहर नदी पर झारखंड सरकार पुल का निर्माण करवा रही थी. इसके लिए स्थानीय विधायक भानु प्रताप शाही ने एड़ी-चोटी एक कर सरकार से स्वीकृति दिलवाई. टेंडर हुआ, लेकिन टेंडर अलॉट होने के बाद काम शुरू होते ही वन विभाग ने अड़ंगा लगा दिया. लिहाजा संवेदक को काम रोक देने पड़ा है.

    झारखंड के गढ़वा एवं छत्तीसगढ़ में सरगुजा जिले के लोग इस नदी को पार करने के लिए नाव का सहारा लेते हैं. हर रोज चार से पांच सौ लोग नदी पार कर मिलने आते-जाते हैं. यहां तक की सरगुजा के लोग गढ़वा में बाजार करने आते हैं. क्योंकि उनका जिला मुख्यालय उनके गांव से दूर है.

    पीडब्ल्यूडी विभाग के कार्यपालक अभियंता राजेश अग्रवाल ने बताया कि पूल को लेकर वन विभाग को आपत्ति हैं. वन विभाग ने संवेदक पर केस दर्ज कराया है. संवेदक का सामान सीज कर लिया गया है. वन विभाग के एनओसी के बाद ही फिर से पुल का काम शुरू हो पाएगा.

    इस मामले में डीएफओ वीके यादव ने बताया कि धुरकी में पुल का निर्माण किया जा रहा था. पहुंच पथ के लिए वन विभाग का तीन हेक्टेयर जमीन जा रहा था. फॉरेस्ट नियम के तहत जमीन के लिए अप्लाई करना होता है. कुछ लैंड संबंधी समस्या है. विभाग के द्वारा पेड़ काटने की अनुमति मांगी गई थी, उसे स्वीकृत कर दी गयी है. सेकेंड स्टेज का काम अब पीडब्लूडी विभाग को करना है. इसके लिए हमारे द्वारा पत्र लिख कर उन्हें जानकरी दे दी गई है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज