लाइव टीवी

30 साल में बनकर तैयार नहीं हो पाया खजुरी जलाशय

Shailesh Kumar | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: February 19, 2018, 11:19 AM IST
30 साल में बनकर तैयार नहीं हो पाया खजुरी जलाशय
30 साल में पूरा नहीं हो पाया खजुरी जलाशय का काम

गढ़वा के मझिआंव प्रखंड स्थित खजुरी गांव में पिछले तीस साल से करोड़ों की लागत से जलाशय का निर्माण कराया जा रहा है, जो आजतक पूरा नहीं हो सका है.

  • Share this:
सरकारें किसानों की आय बढ़ाने के लिए प्रयास के तमाम दावे करती रहती हैं. लेकिन उन दावों का  जमीनी सच्चाई से कोई मेल नहीं होता. खासकर गढ़वा के खजुरी जलाशय के मामले में तो यह साफ दिखता है. तीस साल में इस जलाशय का निर्माणकार्य पूरा नहीं हो पाया है.

गढ़वा के मझिआंव प्रखंड स्थित खजुरी गांव में पिछले तीस साल से करोड़ों की लागत से जलाशय का निर्माण कराया जा रहा है, जो आजतक पूरा नहीं हो सका है. खजुरी जलाशय का शिलान्यास एकीकृत बिहार के मुख्यमंत्री विन्देश्वरी दुबे ने किया था. तब से लगातार अकाल और सुखाड़ की मार गढ़वा जिला झेल रहा है.

गढ़वा के लोग खजुरी जलाशय के बांध के निर्माण की बाट जोह रहे हैं. इस योजना के पूर्ण होने से जिले में जलसंकट दूर हो जाएगी. जब-जब चुनाव आते हैं, खजुरी जलाशय का मुद्दा उठता है. लेकिन चुनाव खत्म होते ही मुद्दा गौन हो जाता है.

सांसद बीडी राम ने जिला भ्रमण के दौरान जिस प्रकार से लोगों को केन्द्र व राज्य सरकार के कार्यों को बताया, उससे लोगों को उम्मीद जगी है कि भाजपा के शासन में खजुरी जलाशय का काम पूरा हो जाएगा.  बतौर सांसद सरकार ने ठान ली है कि पुराने योजनाओं में राशि लगाकर उन्हें पूरा किया जाएगा. स्थानीय लोगों को खजुरी जलाशय के निर्माण होने से पानी के संकट से निजात मिल जाएगा.

खजुरी जलाशय का निर्माण हो जाने से जहां एक ओर जिलेवासी को पीने के पानी की समस्या से छुटकारा मिल जाएगा, वहीं किसानों को सिंचाई की चिंता भी दूर हो जाएगी.

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गढ़वा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 19, 2018, 11:17 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर