Home /News /jharkhand /

11 लाख रुपए लेकर दुकानदार को दिए 40 लाख के नकली नोट, बंडल खोलते ही हुआ बेहोश

11 लाख रुपए लेकर दुकानदार को दिए 40 लाख के नकली नोट, बंडल खोलते ही हुआ बेहोश

झारखंड के गढ़वा में ठगी का शिकार हुआ व्यवसायी

झारखंड के गढ़वा में ठगी का शिकार हुआ व्यवसायी

Jharkhand News: झारखंड के गढवा जिले में हुए फर्जीवाड़े की इस घटना के बाद शिकायत लेकर भुक्तभोगी पुलिस के पास पहुंचा. 40 लाख रुपए के नकली नोट देने से पहले ठगों ने व्यवसायी से 11 लाख रुपए ले भी लिए थे.

रिपोर्ट- चंदन कुमार कश्यप

गढ़वा. कहावत है, लालच बुरी बला है और यह कहावत हकीकत भी है क्योंकि इंसान कितना भी लालच कर ले हाल उसका बुरा ही होता है. यह कहावत वाली कहानी का जिक्र इसलिए हम कर रहे हैं क्योंकि यह लालच झारखंड के गढ़वा (Garhwa News) में हकीकत बनकर उभरी. यहां एक दुकानदार को 40 लाख रुपए कह कर कागज का नकली नोट देकर ठगों ने 11 लाख रुपए कैश का ठगी की और आराम से चलते बने.

झारखंड के गढ़वा सदर थाना में हाथ मे झोला लिए पहुंचे टेढ़ी हैरैया गांव के दुकानदार दशरथ राम को पटना के एक माइक्रो फाइनेंस कंपनी नाम पर दो युवक 11 लाख रुपए का चूना या कहें कि ठग कर चले गए. दरअसल कहानी है कि दशरथ के पास इन दोनों ने फोन पर बताया कि 11 लाख लगाएंगे तो हम उन्हें कंपनी से 40 लाख का फाइनेंस कर देंगे और यह 11 लाख खाता में देना है. इस पर दशरथ राजी हो गया और हामी भर दी. कंपनी के लोग एक चमचमाती कार से गढ़वा आये और दुकान का वेरीफिकेशन किये.

दो घंटे के बाद कंपनी के लोगों ने दशरथ को फोन किया कि 40 लाख कैश ले लो और 11 लाख रुपए तुम हमें दे दो. भरे मार्केट में दशरथ ने 40 लाख रुपए का बंडल ले कर 11 लाख कैश कंपनी के लोगों को दे दिया. दशरथ ने 40 लाख रुपए लिये और उसे लेकर चुपचाप घर आया. घर आने के बाद जब उसने नोट का बंडल खोल कर पैसे मिलाने की कोशिश की तो उसके होश उड़ गए और वो बेहोश हो गया.

दरअसल दशरथ को जो पैसे मिले थे उस बंडल से नोट के बदले सिर्फ और सिर्फ कागज हाथ लगे, जब दुकानदार को अपने साथ हुई ठगी का अहसास हुआ तो इसकी शिकायत करने वो थाना पहुंच गया. इस संबंध में थाना प्रभारी ने कहा कि वरीय अधिकारियों से विचार-विमर्श कर आगे की कार्रवाई की जाएगी.

Tags: Jharkhand news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर