Home /News /jharkhand /

गढ़वा के डीडीसी उमाशंकर प्रसाद ने निगरानी ब्‍यूरो की पूछताछ में कई अहम राज उगले

गढ़वा के डीडीसी उमाशंकर प्रसाद ने निगरानी ब्‍यूरो की पूछताछ में कई अहम राज उगले

हजारीबाग परिवहन विभाग में व्याप्त भ्रष्टाचार की जांच कर रही राज्य निगरानी ब्यूरो की टीम की इस मामले में फंसे गढ़वा के डीडीसी उमाशंकर प्रसाद से पूछताछ दूसरे दिन भी जारी रही। निगरानी ब्‍यूरो के एसपी आनंद जोसेफ तिग्गा के कार्यालय में हो रही इस पूछताछ के दौरान आरोपी अधिकारी उमाशंकर प्रसाद ने कई महत्वपूर्ण जानकारियां दी हैं।

हजारीबाग परिवहन विभाग में व्याप्त भ्रष्टाचार की जांच कर रही राज्य निगरानी ब्यूरो की टीम की इस मामले में फंसे गढ़वा के डीडीसी उमाशंकर प्रसाद से पूछताछ दूसरे दिन भी जारी रही। निगरानी ब्‍यूरो के एसपी आनंद जोसेफ तिग्गा के कार्यालय में हो रही इस पूछताछ के दौरान आरोपी अधिकारी उमाशंकर प्रसाद ने कई महत्वपूर्ण जानकारियां दी हैं।

हजारीबाग परिवहन विभाग में व्याप्त भ्रष्टाचार की जांच कर रही राज्य निगरानी ब्यूरो की टीम की इस मामले में फंसे गढ़वा के डीडीसी उमाशंकर प्रसाद से पूछताछ दूसरे दिन भी जारी रही। निगरानी ब्‍यूरो के एसपी आनंद जोसेफ तिग्गा के कार्यालय में हो रही इस पूछताछ के दौरान आरोपी अधिकारी उमाशंकर प्रसाद ने कई महत्वपूर्ण जानकारियां दी हैं।

अधिक पढ़ें ...
हजारीबाग परिवहन विभाग में व्याप्त भ्रष्टाचार की जांच कर रही राज्य निगरानी ब्यूरो की टीम की इस मामले में फंसे गढ़वा के डीडीसी उमाशंकर प्रसाद से पूछताछ दूसरे दिन भी जारी रही। निगरानी ब्‍यूरो के एसपी आनंद जोसेफ तिग्गा के कार्यालय में हो रही इस पूछताछ के दौरान आरोपी अधिकारी उमाशंकर प्रसाद ने कई महत्वपूर्ण जानकारियां दी हैं।

इधर, निगरानी एसपी विपुल शुक्ला ने जानकारी देते हुए कहा है कि यह कार्रवाई निगरानी कोर्ट से दो दिनों की रिमांड की अनुमति मिलने पर की जा रही है।

गौरतलब है कि जिस दौरान लाइसेंस बनाने के लिए परिवहन विभाग में मोटी रकम लेने की शिकायतें निगरानी ब्‍यूरो को मिली थीं उस समय उमाशंकर प्रसाद हजारीबाग के डीटीओ थे। इसके बाद हुई कार्रवाई में दो कर्मचारी रंगे हाथ 2011 में पकड़े गए थे। निगरानी ब्‍यूरो ने उमाशंकर प्रसाद को भी आरोपी बनाते हुए मुकदमा दर्ज कराया था।

लंबे समय से फरार चल रहे उमाशंकर प्रसाद ने आखिरकार निगरानी ब्‍यूरो की दबिश के बाद बीते 21 मार्च को निगरानी कोर्ट में आत्मसमर्पण किया था। उस समय से उमाशंकर प्रसाद न्यायिक हिरासत में हैं। फिलहाल, निगरानी ब्यूरो में पूछताछ जारी है और रिमांड का अंतिम दिन है।

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

 

 

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर