लाइव टीवी

इस स्वास्थ्य केंद्र में दो साल से नहीं हैं चिकित्सक

Neelkamal | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: September 23, 2017, 5:25 PM IST
इस स्वास्थ्य केंद्र में दो साल से नहीं हैं चिकित्सक
किशुनपुर में स्वास्थ्य केंद्र की व्यवस्था लचर

पलामू के सांसद आदर्श ग्राम पंचायत किशुनपुर में स्वास्थ्य व्यवस्था पूरी तरह से लचर है.

  • Share this:
पलामू के किशुनपुर में स्वास्थ्य व्यवस्था पूरी तरह से लचर है. किशुनपुर स्वास्थ्य केन्द्र में लगभग दो साल से चिकित्सक नहीं हैं. एक एएनएम व एक ड्रेसर के भरोसे प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का संचालन हो रहा है. यहां आनेवाले मरीजों का सही तरीके से इलाज नहीं हो पाता है.

बता दें कि हर दिन इस अस्पताल में ग्रामीण इलाके से महिलाएं प्रसव के लिए पहुंचती हैं मगर चिकित्सक नहीं होने की वजह से उन्हें डाल्टेनगंज सदर अस्पताल जाना पड़ जाता है. सहियाओं की मानें तो महिला मरीजों को जब अस्पताल में लाया जाता है तब काफी दिक्कतें पेश आती हैं.

दरअसल देश में जब नरेन्द्र मोदी की सरकार बनी तब देश के सभी सांसदों को टास्क मिला कि सभी सांसद अपने संसदीय क्षेत्र में एक गांव को गोद लें और उसे आदर्श ग्राम बनाएं. पलामू सांसद बीडी राम ने भी पाटन प्रखंड के किशुनपुर पंचायत को आदर्श ग्राम पंचायत बनाने को लेकर गोद लिया था. मगर यहां स्वास्थ्य व्यवस्था बिल्कुल दयनीय है.

इस स्वास्थ्य केन्द्र की लचर व्यवस्था के कारण ही यहां के 50 हजार लोग इलाज से महरूम रह जा रहे हैं. स्थानीय जिला परिषद नंदकुमार राम का कहना है कि कई बार व्यवस्था सुधार की मांग की गई है मगर कोई कार्रवाई नहीं की गई. इधर आदर्श ग्राम पर विपक्ष भी लगातार सवाल उठा रहा है. पूर्व मंत्री सह कांग्रेस नेता केएन त्रिपाठी का कहना है कि मोदी सरकार में हर सरकारी योजना की सच्चाई धरातल पर और ही कुछ है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गढ़वा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 23, 2017, 5:25 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर