घोटाला : घटिया एलईडी लाईट कभी जली भी तो रोशनी नहीं होती

लाईट जलती भी है तो भी रात में अंधेरा कायम रहता है.

Neelkamal | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: January 14, 2018, 7:11 PM IST
घोटाला : घटिया एलईडी लाईट कभी जली भी तो रोशनी नहीं होती
कुछ दिन जलने के बाद बुझ गईं सभी एलईडी लाईट
Neelkamal
Neelkamal | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: January 14, 2018, 7:11 PM IST
पलामू के सतबरवा प्रखंड के सतबरवा बाजार व मुख्य सड़कों पर लगी एलईडी लाईट हाथी का दांत साबित हो रहे हैं. 6 माह पूर्व भारत सरकार की महत्वाकांक्षी अटल ज्योति योजना के तहत सांसद कोटा से ये लाईट लगाई गई. तब यहां के स्थानीय लोगों में काफी खुशी थी कि अब उनका सतबरवा जगमगाएगा. मगर लगाई गई लाईट कुछ ही दिन जलीं. अब इलाके में अब पहले जैसा ही अंधियारा छाया रहता है. यहां लगाई गई एलईडी लाईट की रोशनी भी काफी कम है. कभी कभार लाईट जलती भी है तो भी रात में अंधेरा कायम रहता है. इस व्यवस्था से स्थानीय लोगों में खासी नाराजगी है. इनका कहना है कि एलईडी लाईट लगाने की योजना में घोटाला हुआ है.

सतबरवा प्रखंड में 2 संसदीय क्षेत्र हैं. इसमें सतबरवा के 4 पंचायत पलामू सांसद बीडी राम के क्षेत्र में है जहां सांसद कोटा से 57 लाईट लगाई गई है. वहीं सतबरवा के 6 पंचायत चतरा संसदीय क्षेत्र में आते हैं. इसलिए चतरा सांसद सुनील सिंह के कोटे से भी 6 पंचायतों में 110 लाईट लगाई गई है. गढ़वा जिला के इओन इलेक्ट्रिक लिमिटेड कंपनी द्वारा ये लाईट लगाई गई है. मगर लगाई गई लाईट घटिया क्वालिटी की है.

स्थानीय लोगों की मानें तो कभी-कभार लाईट अगर जली भी तो सिर्फ पोल के नजदीक ही धूमिल रोशनी मिलती है. इसके आगे अंधेरा ही होता है. यहां के लोगों की माने तो सिर्फ योजना के नाम पर खानापुर्ति की गई है. संवेदक व जनप्रतिनिधि पर पैसों के बंदरबांट करने के आरोप लगाए जा रहे हैं.

इधर सतबरवा प्रखंड के स्थानीय भाजपा नेता विजय पाठक का कहना है कि सांसद महोदय द्वारा लगाई गई लाईट जनहित में है. लेकिन कुछ गड़बड़ियां हैं जिसकी सूचना सांसद महोदय को दी गई है. जल्द ही सभी खराब एलईडी लाईट को बदल दिया जाएगा. हालांकि गड़बड़ियों में किसका हाथ है, इसका जवाब देने से वह बच निकले.

केंद्र और राज्य सरकार जनता के लिए कई महत्वपूर्ण योजनाएं बनाती है मगर धरातल पर योजनाओं की क्या हकीकत होती है सतबरवा उसका एक उदाहरण है. अब देखना है कि गड़बड़ झाला की कबतक जांच होती है और कबतक सतबरवा में लगी घटिया एलईडी लाईट को बदला जाता है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर