लाइव टीवी

गैस चूल्हा मिलने से महिलाओं की खुशी का ठिकाना नहीं

Neelkamal | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: September 13, 2017, 11:23 PM IST
गैस चूल्हा मिलने से महिलाओं की खुशी का ठिकाना नहीं
उज्ज्वला योजना से महिलाओं की जीवनशैली बदली

पलामू के ग्रामीण इलाकों में सरकार की उज्ज्वला योजना से महिलाओं में खासा उत्साह है.

  • Share this:
पलामू के ग्रामीण इलाकों में सरकार की उज्ज्वला योजना से महिलाओं में खासा उत्साह है. ग्रामीण इलाकों की महिलाएं चूल्हा जलाने के लिए दिनभर जंगलों में लकड़ियां चुना करती थीं. मगर अब उज्ज्वला योजना के तहत सरकार से मिले गैस चूल्हा पाकर बहुत खुश हैं. गैस चूल्हा जलाने से प्रदूषण भी नहीं हो रहा है.

गैस चूल्हा हो जाने से वे अपने बच्चों को स्कूल भी समय से भेज पा रही हैं. चैनपुर प्रखंड के कंकारी गांव की महिलाओं की मानें तो उन्हें बरसात से पहले चार माह के लिए जंगल से लकड़ी लाकर घर में रखना पड़ता था ताकि घर का खाना बनाने में उन्हें चूल्हा जलाने को लेकर कोई परेशानी नहीं हो.

अब गैस का चूल्हा आ जाने से उनके जीवन में बदलाव आ गया है. कंकारी गांव की महिलाओं का यह भी कहना है कि पहले खाना पकाने में देर हो जाने के कारण बच्चों का स्कूल भी प्रभावित हो जाया करता था. मगर जब से गैस का चूल्हा मिला तब से उन्हें यह परेशानी भी नहीं हो रही है.

इधर उज्ज्वला योजना के प्रति जिला प्रशासन भी गंभीर है. डीसी अमित कुमार की मानें को ग्रामीण महिलाओं को प्रदूषण से मुक्ति मिल गई है. डीसी ने यह भी कहा कि लागातार जिला प्रशासन इस योजना का लाभ महिलाओं को दे रही है. उन्होंने कहा कि आगामी 20 सितंबर को कैंप लगातार जिले के लाभुक महिलाओं को एक बार फिर योजना का लाभ दिया जाएगा.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गढ़वा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 13, 2017, 11:23 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर