Home /News /jharkhand /

Jharkhand Sand Mafia: रेत माफिया ने की SDM की गाड़ी को कुचलने की कोशिश, मुश्किल से बची जान

Jharkhand Sand Mafia: रेत माफिया ने की SDM की गाड़ी को कुचलने की कोशिश, मुश्किल से बची जान

Garhwa News: रेता माफिया ने एसडीएम के वाहन को कुचलने का प्रयास किया है. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

Garhwa News: रेता माफिया ने एसडीएम के वाहन को कुचलने का प्रयास किया है. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

Illegal Sand Mining in Garhwa: SDM आलोक कुमार ने जब ट्रकों को पकड़ना शुरू किया तो बालू माफियाओं में हड़कंप मच गया और वे लोग जैसे-तैसे अपनी ट्रकों को लेकर भागने लगे. इस दौरान एसडीएम ने 30 से 40 ट्रकों को एनएच-75 पर पकड़ा. रेत माफिया ने इसी अफरा-तफरी में एसडीएम की गाड़ी को कुचलने का प्रयास किया.

अधिक पढ़ें ...

    रिपोर्ट – चंदन कुमार कश्‍यप

    गढ़वा. झारखंड के गढ़वा जिले में रेत माफिया के हौसले सातवें आसमान पर है. इसका अंदाजा इस घटना से लगाया जा सकता है. बालू माफिया ने रात्रि गश्‍त पर निकले SDM की गाड़ी को कुचलने का प्रयास किया है. इस घटना में अफसर किसी तरह अपनी जान बचाने में कामयाब रहे. गढ़वा में कानून-व्‍यवस्‍था को ठेंगा दिखाते हुए बालू माफिया अवैध तरीके से रेत खनन करते हैं. उन्‍हें स्‍थानीय शासन-प्रशासन का भी कोई भय नहीं है. झारखंड के साथ ही सीमावर्ती उत्‍तर प्रदेश के बालू माफिया भी जिले में सक्रिय हैं. पुलिस की ओर से अवैध रेत खनन के खिलाफ अभियान चलाए जाने के बावजूद गैरकानूनी तरीके से बालू का धंधा फल-फूल रहा है.

    गढ़वा जिले के श्रीबंशीधर नगर के एसडीएम आलोक कुमार की पहली पोस्टिंग है. पहली पोस्टिंग में ही उन्‍हें कठिन परिस्थितियों से रूबरू होना पड़ा है. वह रेत माफियाओं के खिलाफ अभियान चलाने के लिए रात्रि गश्‍त पर निकले थे. वह छापेमारी कर रेत का अवैध करोबार करने वालों पर नकेल कसने की कोशिश में थे. एसडीएम आलोक कुमार की जान तब आफत में आ गई, जब उत्‍तर प्रदेश के बालू माफिया ने ट्रक से इनकी गाड़ी को कुचलने का प्रयास किया. आलोक किसी तरह अपनी जान बचाने में सफल रहे. इस घटना से स्‍थानीय प्रशासन में भी हड़कंप है.

    Big News: एक ही कमरे में मिली पति-पत्‍नी और बेटे की लाश, मुंह से निकल रहा था झाग

    झारखंड में यूपी के माफिया सक्रिय

    दरअसल, गढ़वा जिले में उतर प्रदेश के बालू माफिया काफी सक्रिय हैं. यहां प्रतिदिन सैकड़ों ट्रक बालू लेने के लिए आते हैं. गढ़वा जिले में दर्जनों वैध और अवैध घाटों से ट्रक में रेत को ओवरलोड कर ले जाया जाता है. रेत को प्रति ट्रक 60 से 80 हजार रुपये में बेचा जाता है. गढ़वा के घाटों से सस्‍ते दरों पर बालू का उठान होता है, ऐसे में इस धंधे में काफी मुनाफा होता है. एसडीएम आलोक कुमार को जब पता चला कि बड़ी संख्या में बालू से लदे ट्रकों की एक खेफ उत्‍तर प्रदेश जा रही है तो उन्‍होंने अपनी एक टीम बनाई और छापेमारी के लिए निकल पड़े. ट्रकों को पकड़ना शुरू किया तो बालू माफियाओं में हड़कंप मच गया और लोग जैसे-तैसे अपनी ट्रकों को लेकर भागने लगे. इस दौरान एसडीएम ने 30 से 40 ट्रकों को एनएच-75 पर पकड़ा है. इस मामले पर डीसी ने कहा कि उनके निर्देश पर अवैध बालू लदे ट्रक को पकड़ा गया था. एसडीएम छापेमारी कर रहे थे तो कुछ ट्रक वालों ने बदमाशी की है. मामले की जांच की जा रही है.

    Tags: Jharkhand news, Sand Mining

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर