लाइव टीवी

खादी ग्रामोद्योग शाखा में प्रशिक्षण ले महिलाएं बन रहीं आत्मनिर्भर

Neelkamal | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: February 15, 2018, 11:41 PM IST
खादी ग्रामोद्योग शाखा में प्रशिक्षण ले महिलाएं बन रहीं आत्मनिर्भर
प्रशिक्षण ले महिलाओं का बढ़ रहा आत्मविश्वास

खादी ग्रामोद्योग द्वारा सूत कटाई का काम लिया जाता है और इसके एवज में महिलाओं को ढाई सौ रुपए मेहनताना के रूप में दिए जाते हैं. महिलाओं के खाते में पैसे सरकार डाल दिया करती है.

  • Share this:
पलामू में खादी ग्रामोद्योग शाखा महिलाओं को करघा का प्रशिक्षण दे रहा है. प्रशिक्षण लेने के बाद महिलाओं को यहीं रोजगार भी मिल जा रहा है. साथ ही महिलाओं को सरकार अनुदान पर करघा मशीन भी दे रही है. इससे महिलाओं में आत्मनिर्भरता आ रही है. उनमें आत्मविश्वास जग रहा है और रोजगार मिल जाने से महिलाएं उत्साहित भी हैं.

पलामू का खादी ग्रामोद्योग शाखा डाल्टेनगंज में महिलाओं को करघा मशीन चलाने के प्रशिक्षण के साथ सूत काटने का ट्रेनिंग भी दे रहा है. इससे महिलाओं में खासा उत्साह है. प्रशिक्षण लेकर महिलाएं पुन: इसी खादी ग्रामउद्योग शाखा में सूत काटने का काम भी कर रहीं हैं. इससे महिलाओं की अच्छी कमाई भी हो रही है. महिलाओं की माने तो घर का सारा काम खत्म करने के बाद वे इस प्रशिक्षण केंद्र में आती हैं और करघा चलाकर सूत काटती हैं. सूत काटने का उन्हें उनका मेहनताना मिल जाता है.

हालांकि महिलाओं की यह भी मांग है कि सरकार उन्हें करघा मुहैया कराए ताकि वे घर बैठे काम कर और ज्यादा मुनाफा कमाएं. महिलाओं का मानना है कि खादी के साथ-साथ खादी से जुड़े अन्य कार्य में भी उन्हें लगाया जाए तो उनकी कमाई ज्यादा हो सकती है.

इधर डाल्टेनगंज खादी ग्रामोद्योग शाखा में महिलाओं को प्रशिक्षण देने वाले वार्डन की माने तो महिलाएं यहां प्रशिक्षण लेने के बाद यहीं काम भी कर रही हैं. उन्हें यहीं रोजगार भी मिल जा रहा है. वार्डन ने कहा कि खादी ग्रामोद्योग द्वारा सूत कटाई का काम लिया जाता है और इसके एवज में महिलाओं को ढाई सौ रुपए मेहनताना के रूप में दिए जाते हैं. महिलाओं के खाते में पैसे सरकार डाल दिया करती है. रोजगार मिल जाने से महिलाओं में खासा उत्साह है . वार्डन का यह भी कहना है कि रघुवर सरकार से उम्मीद है कि खादी ग्रामोद्योग को और सहायता मिले ताकि ज्यादा से ज्यादा महिलाएं जुड़ सकें और स्वालंबी बनें.

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गढ़वा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 15, 2018, 11:39 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर