Home /News /jharkhand /

चाइल्ड पोर्नोग्राफी मामला: नग्न वीडियो देखे बिना नहीं रह पाता था आरोपी, इसलिए बना डाला पोर्न ग्रुप

चाइल्ड पोर्नोग्राफी मामला: नग्न वीडियो देखे बिना नहीं रह पाता था आरोपी, इसलिए बना डाला पोर्न ग्रुप

केरल पुलिस ने चाइल्ड पोर्नोग्राफी का खुलासा किया. इसके बाद गिरिडीह से आरोपी को गिरफ्तार किया गया.

केरल पुलिस ने चाइल्ड पोर्नोग्राफी का खुलासा किया. इसके बाद गिरिडीह से आरोपी को गिरफ्तार किया गया.

Jharkhand News: चाइल्ड पोर्नोग्राफी मामले में गिरिडीह साइबर पुलिस के हत्थे चढ़े देवरी थानाक्षेत्र के घोरंजी निवासी रामप्रवेश सागर को जेल भेज दिया गया. पूछताछ में रामप्रवेश ने बताया कि वह रांची के चुटिया में रहता था और वहीं पर उसे पोर्न वीडियो देखने की लत लग गई. इसलिए उसने अलग से HD PORN नामक ग्रुप बना डाला, जिसका एक्सेस गूगल में दे दिया.

अधिक पढ़ें ...

    रिपोर्ट- एजाज अहमद

    गिरिडीह. गिरिडीह पुलिस ने चाइल्ड पोर्न वीडियो परोसने वाले युवक को जेल भेज दिया. इससे पहले युवक ने पूछताछ में साइबर पुलिस के सामने सारी कहानी बताई. दरअसल युवक को नग्न वीडियो देखने की लत लग चुकी थी. ऐसे में उसने खुद ही पोर्न वीडियो ग्रुप बना डाला. बता देंकि केरल पुलिस ने चाइल्ड पोर्नोग्राफी का खुलासा किया था. इसके बाद गिरिडीह पुलिस हरकत में आई और आरोपी युवक को गिरफ्तार किया.

    चाइल्ड पोर्नोग्राफी मामले में गिरिडीह साइबर पुलिस के हत्थे चढ़े देवरी थानाक्षेत्र के घोरंजी निवासी रामप्रवेश सागर को जेल भेज दिया गया. पूछताछ में रामप्रवेश ने बताया कि वह रांची के चुटिया में रहता था और वहीं पर उसे पोर्न वीडियो की लत लग गई. मई महीने में इंटरनेट पर उसे एक लिंक मिला जिसमें जॉइन चैट लाइव लिखा था. वह उस साइट्स से जुड़ गया. बाद में उसने अलग से HD PORN नामक ग्रुप बनाया जिसका एक्सेस उसने गूगल में दे दिया. उसके लिंक को जो भी टच करता वह उस ग्रुप से जुड़ जाता. उसके ग्रुप से 250 लोग जुड़े थे. मेंबर में अधिकांश लोग इंडिया के थे, जबकि कुछ लोग दूसरे देश के भी थे. इसमें वह बच्चों के पोर्न वीडियो को डाला करता था. धीरे-धीरे वह इस काम से बोर हो चुका था, लेकिन तबतक काफी देर हो गई.

    गिरिडीह साइबर थानाप्रभारी सुरेश कुमार मंडल ने बताया कि अभियुक्त ने अपना जुर्म स्वीकार कर लिया है. उसे जेल भी भेज दिया गया है. यह भी बताया कि अभियुक्त ने स्नातक तक की पढ़ाई की है. अब पीड़ितों की तलाश हो रही है. कहा कि इस तरह की हरकत में शामिल लोगों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा. हालांकि अभी कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है, उम्मीद है जल्द ही प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इसकी जानकारी दी जाएगी. हालांकि किसी भी प्रकार की ऑफिशियल स्टेटमेंट देने से अधिकारियों के द्वारा मना कर दिया गया है और बताया गया कि मामले की जांच पड़ताल की जा रही है. इस मामले के अनुसंधान के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अधिकारिक जानकारी दे दी जाएगी.

    केरल पुलिस ने चाइल्ड पोर्नोग्राफी मामले का खुलासा किया था. वहां की पुलिस ने उस व्हाट्सएप ग्रुप के एडमिन की खोज शुरू की थी जो अपने ग्रुप में पोर्न वीडियो परोस रहा था. केरल पुलिस ने जब एडमिन पर दबिश बनाना शुरू किया तो वह फरार हो गया. बाद में शुक्रवार को ही केरल के साइबर एडीजी ने झारखण्ड के साइबर एडीजी से संपर्क साधा और पूरी जानकारी दी. केरल पुलिस द्वारा ई-मेल भी किया गया था. इसके बाद झारखण्ड के साइबर एडीजी के निर्देश पर गिरिडीह साइबर थाना में थाना प्रभारी सुरेश प्रसाद मंडल ने स्वयं के बयान पर आईटी एवं पोक्सो एक्ट के तहत रामप्रवेश सागर के विरूद्ध मामला दर्ज किया था.

    मामला दर्ज होने के बाद रामप्रवेश की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने संभावित ठिकानों पर उसकी तलाश शुरू की. एफआईआर के 24 घण्टे के अंदर ही साइबर थाना प्रभारी सुरेश मंडल व उनकी टीम में शामिल आरक्षी तरुण झा व रविभूषण कान्दू ने रामप्रवेश को गिरफ्तार कर लिया. रामप्रवेश को पकड़ने के लिए मेन्यूवल के साथ-साथ टेक्निकल इनपुट का सहारा लिया गया.

    Tags: Giridih news, Jharkhand news, Pornography Case

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर