होम /न्यूज /झारखंड /Child Theft: जिसने खिलाया खाना उसी के 2 महीने के बच्‍चे को चुरा कर भागी महिला

Child Theft: जिसने खिलाया खाना उसी के 2 महीने के बच्‍चे को चुरा कर भागी महिला

Child Theft News: एक महिला 2 महीने के बच्‍चे को लेकर भाग रही थी. ग्रामीणों ने उस धर दबोचा. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

Child Theft News: एक महिला 2 महीने के बच्‍चे को लेकर भाग रही थी. ग्रामीणों ने उस धर दबोचा. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

Giridih Crime News: एक अंजान महिला गांव में पहुंची और खुद को भूखा बताते हुए भोजन की मांग की. इस पर एक ग्रामीण महिला ने ...अधिक पढ़ें

    एजाज अहमद

    गिरिडीह. झारखंड के आदिवासी बहुल गिरिडीह जिले में बच्‍चा चोरी का मामला सामने आया है. ग्रामीणों ने महिला को पकड़ कर बच्‍ची को सकुशल उसके चंगुल से मुक्‍त करा लिया. दरअसल, एक भूखी महिला एक घर में पहुंची और खाने की मांग की. इस पर ग्रामीण महिला ने न केवल उस औरत को भोजन दिया, बल्कि आराम करने की भी व्‍यवस्‍था कर दी. बाद में घर की स्‍वामिनी अपनी 2 महीने की बेटी को घर में ही अपरिचित महिला के भरोसे छोड़ कर कुएं से पानी लाने के लिए चली गई. वापस आई तो अंजान महिला उनकी 2 महीने की बेटी के साथ फरार हो गई थी. हो हल्‍ला मचने के बाद ग्रामीणों न आरोपी महिला की तलश शुरू कर दी. ग्रामीणों 6 घंटे की कड़ी मशक्‍कत के बाद आरोपी महिला को पकड़ लिया.

    जानकारी के अनुसार, गिरिडीह जिले की तीसरी प्रखंड के सुदूरवर्ती आदिवासी गांव हथियागढ़ से 2 महीने की बच्‍ची को लेकर भाग रही महिला को ग्रामीणों ने मंगलवार देर शाम करीब 5 किलोमीटर दूर डोरंडा-गांवां स्थित जमुनिया आहार के समीप पकड़ लिया. महिला 2 महीने की एक आदिवासी बच्‍ची की चोरी कर भाग रही थी. इसी बीच शाम में चारों तरफ खोजबीन करते हुए लोगों ने आरोपी महिला को दबोच लिया और उसके साथ धक्का-मुक्की करने लगे. हालांकि, इस दौरान कई गांवों से बड़ी संख्या में लोग जुट गए थे, जिसमें कुछ समझदार लोग भी थे. बाद में आरोपी महिला को पुलिस के हवाले कर दिया गया.

    VIDEO: झारखंड में दिनदहाड़े बंदूक की नोक पर कारोबारी का अपहरण, CCTV कैमरे में कैद हुई घटना

    बताया जाता है कि मंगलवार देर शाम तीसरी थाना क्षेत्र के हथियागढ़ निवासी सहदेव बेसरा पिता जीतन बेसरा के घर दोपहर करीब 1:00 बजे एक महिला पहुंची. उसने खुद को भूखा बताते हुए खाने की मांग की. इस पर सहदेव बेसरा की पत्नी सुषमा हेंब्रम ने महिला को भोजन कराया और कुछ देर आराम करने और 2 माह के बच्चे को देखते रहने की बात कह कर घर से कुछ दूर स्थित कुआं से पानी लाने चली गईं. कुछ देर बाद पानी लेकर सुषमा घर लौटीं तो घर पर न ही महिला थी और न ही 2 महीने का उनका बच्‍चा ही था.

    महिला ने अपने बच्चे को नहीं देखा तो उन्‍होंने पहले अगल-बगल होने की बात सोच इंतजार करती रही. महिला के नहीं आने पर खोजबीन करने लगे तो बच्चा चोरी होने की खबर आग की तरह कई गांव में फैल गई. ग्रामीण अलग-अलग रास्ते से बच्चे और महिला की खोज में निकल पड़े. देर शाम करीब 7:00 बजे आरोपी महिला को दबोच लिया गया. ग्रामीण आक्रोशित थे, लेकिन कुछ समझदार लोगों ने पुलिस को फोन कर महिला को उनके हवाल कर दिया. मासूम को उसके परिवार के हवाले कर दिया गया.

    Tags: Child theft, Crime News, Giridih news, Jharkhand news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें