Home /News /jharkhand /

झारखंड: सीओ पर लगा घूस लेने का आरोप तो मीडिया को कहा- जो खबर चलाना है चला लो

झारखंड: सीओ पर लगा घूस लेने का आरोप तो मीडिया को कहा- जो खबर चलाना है चला लो

गिरिडीह में ग्रामीणों ने सीओ पर घूस लेने का आरोप लगाया है.

गिरिडीह में ग्रामीणों ने सीओ पर घूस लेने का आरोप लगाया है.

Giridih News: बताया जाता है कि लोगों द्वारा घूस नहीं देने की स्थिति में उन्हें सिर्फ ब्लॉक और अंचल कार्यालय का चक्कर कटवाया जाता है और उनका काम होल्ड पर रख दिया जाता है. कुछ इसी तरह का मामला जमुआ प्रखंड से आया है, जहां पर छात्र कई दिनों से प्रखंड कार्यालय का चक्कर काट रहे हैं. लेकिन, अभी तक छात्रों का आवासीय, जातीय व आय प्रमाण पत्र नहीं बन पाया है.

अधिक पढ़ें ...

    रिपोर्ट- अजाज अहमद 

    गिरिडीह. झारखंड के गिरिडीह जिले में इन दिनों जिला व प्रखंड (Blcok) स्तर के अधिकारियों के द्वारा जनता से सभी कामों को करवाने के लिए रिश्वत (Bribe) लेने की बात आम हो गयी है. यहां तक की जाति, आवासीय और मृत्यु प्रमाण पत्र बनवाने के लिए भी अधिकारियों और कर्मचारियों के द्वारा वसूली की जाती है. वहीं जब इसको लेकर मीडिया कर्मियों ने सीओ (Circle Officer) से सवाल किया तो वह भड़क जाते हैं और मीडिया को कहते हैं कि जो खबर दिखाना दिखा दो मैं बयान नहीं दूंगा.

    बताया जाता है कि लोगों द्वारा घूस नहीं देने की स्थिति में उन्हें सिर्फ ब्लॉक और अंचल कार्यालय का चक्कर कटवाया जाता है और उनका काम होल्ड पर रख दिया जाता है. कुछ इसी तरह का मामला जमुआ प्रखंड से आया है, जहां पर छात्र कई दिनों से प्रखंड कार्यालय का चक्कर काट रहे हैं. लेकिन, अभी तक छात्रों का आवासीय, जातीय व आय प्रमाण पत्र नहीं बन पाया है.
    वहीं एक मामला बेंगाबाद प्रखंड से आया है जहां ग्रामीणों ने सीओ कृष्ण कुमार मरांडी पर घूस मांगने का आरोप लगाया है. ग्रामीणों ने शुक्रवार को प्रखंड कार्यालय पहुंचकर सीओ केके मरांडी के खिलाफ नारेबाजी कर अपना विरोध जताया. टिंकू राउत ने आरोप लगाया कि सीओ के द्वारा पहले तो रिश्वत की मांग की गयी और फिर घूस नहीं देने पर बन रहे घर को बल पूर्वक रुकवा दिया गया और गृहस्वामी को थाने में बंद करवा दिया. इसके बाद किसी तरह बॉन्ड भरवाने के बाद उन्हें छोड़ा गया.
    स्थानीय निवासी झारखंडी मंडल ने बताया कि बेंगाबाद में घूसखोरी इस हद तक पहुंच चुकी है कि लोगों का सही काम भी बिना रिश्वत के नहीं होता है. आए दिन लोगों को अपने काम के लिए अंचल कार्यालय का चक्कर लगाना पड़ता है. लेकिन, यहां कर्मचारी से लेकर अधिकारी कोई उनकी बात नहीं सुनता है.
    वहीं इस मामले को लेकर न्यूज18 ने सीओ केके मरांडी से पूछा तो उन्होंने कहा कि जिसे जो करना है कर ले, जितनी खबर चलाना है चला दे, मुझे कोई प्रभाव नहीं पड़ने वाला है. मैं बयान नहीं दूंगा. हालांकि इस मामले पर उपायुक्त ने कमेटी बनाकर कर जांच करने की बात कही है. उन्होंने जांच में दोषी पाए जाने पर अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई का भी आश्वासन भी दिया है.

    Tags: Bribe news, Giridih news, Jharkhand news

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर