Home /News /jharkhand /

...तो ऐसे मैनेज होता है टेंडर! ठेकेदारों ने खुलेआम बांटीं नोटों की गड्डियां

...तो ऐसे मैनेज होता है टेंडर! ठेकेदारों ने खुलेआम बांटीं नोटों की गड्डियां

गिरिडीह के सर्कस मैदान में टैंडर मैनेज करने के लिए ठेकेदारों में पैसों की लेन-देन खुलेआम की गई.

गिरिडीह के सर्कस मैदान में टैंडर मैनेज करने के लिए ठेकेदारों में पैसों की लेन-देन खुलेआम की गई.

Giridih News: रविवार को जिला परिषद द्वारा विभिन्न योजनाओं का टेंडर निकाला गया. इस सिलसिले में ठेकेदारों का जमावड़ा शहर के सर्कस मैदान में लगा. यहीं ठेकेदार एक- दूसरे को मैनेज करते दिखे. इस दौरान खुलेआम पैसे बांटे गये.

    रिपोर्ट- एजाज अहमद

    गिरिडीह. झारखंड के गिरिडीह में जिला परिषद की योजनाओं के टेंडर को मैनेज करने का खेल चला. यहां सरेआम ठेकेदारों के बीच पैसों का लेन-देन हुआ. पैसे के लेन-देन की तस्वीर कइयों ने मोबाइल में कैद की है. अब यह मामला तूल पकड़ने लगा है.

    दरअसल रविवार को जिला परिषद द्वारा विभिन्न योजनाओं का टेंडर निकाला गया. लगभग 14 करोड़ की लागत से इन योजनाओं का काम होना है. सुबह से ही टेंडर गिराने का काम ठेकेदारों ने शुरू किया. इससे पहले ठेकेदारों का जमावड़ा शहर के सर्कस मैदान में लगा. यहां सैकड़ों लोग जुटे. यहीं ठेकेदार एक- दूसरे को मैनेज करते दिखे. इस दौरान खुलेआम पैसे बांटे गये.

    बताया जाता है कि आपस में मैनेज होने के बाद कई ठेकेदारों ने एक-दूसरे की योजना में टेंडर ही नहीं डाला. ज्यादातर ठेकेदारों ने कमाई कर निकलने में ही बहादुरी समझी. यह खेल चलता रहा.
    इस दौरान कुछ ठेकेदार आपस में बहस करते भी दिखे. इन सबके बीच कुछेक ठेकेदार ने इस टेंडर को ही रद्द करने की मांग की.

    डुमरी के एक ठेकेदार ने डुमरी के ही दूसरे ठेकेदार पर पेपर छीनने का आरोप लगाया है. इन सबों के बीच कोरोना गाइडलाइन की धज्जियां भी उड़ायी गईं. बगैर मास्क के ही एक स्थान पर ठेकेदार आपस में बैठे रहे. वहीं, दूसरी तरफ पुलिस के अधिकारी व जवान भी खड़े रहे. जिला परिषद ने सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था की गई थी.

    जिला परिषद कार्यकारी समिति के उपाध्यक्ष कामेश्वर पासवान ने बताया कि 15वीं वित्त राशि का कई महीनों से खर्च जिला परिषद में नहीं हुआ था. पिछली योजनाओं का पैसा बचा हुआ था. ऐसे में जिला परिषद के 45 सदस्यों ने बैठक कर योजनाओं का चयन करवाया. इसकी निविदा आज डाली गई है.

    टेंडर मैनेज के सवाल पर उन्होंने कहा कि यह खेल तो चर्चा में है. लेकिन जो भी कुछ हुआ है वह जिला परिषद कैम्पस के बाहर हुआ. यहां शांतिपूर्ण तरीके से सिर्फ टेंडर डाला गया है. बाहर के खेल से जिला परिषद को कोई मतलब नहीं है.

    Tags: Giridih news, Jharkhand news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर