होम /न्यूज /झारखंड /नक्सल प्रभावित हाथगढ़ में डायरिया का कहर, एक ही गांव में 24 से ज्यादा बीमार

नक्सल प्रभावित हाथगढ़ में डायरिया का कहर, एक ही गांव में 24 से ज्यादा बीमार

(सांकेतिक तस्वीर)

(सांकेतिक तस्वीर)

Jharkhand News: झारखंड के गिरिडीह जिले के देवरी प्रखंड में नक्सल प्रभावित गांव हथगढ़ डायरिया महामारी की चपेट में है. 24 ...अधिक पढ़ें

    रिपोर्ट- एजाज अहमद

    गिरिडीह. झारखंड के गिरिडीह जिले का गांव हथगढ़ डायरिया महामारी की चपेट में है. यहां 24 से ज्यादा लोगों का इलाज अलग-अलग अस्पतालों में चल रहा है. बताया जाता है यह महामारी नदी के गंदे पानी पीने से फैली है. क्योंकि गांव में पीने के साफ पानी की कोई उचित व्यवस्था नहीं है. यह इलाका उग्रवाद प्रभावित है.

    बताया जाता है कि हथागढ़ गांव में डायरिया पीड़ित तीन लोगों की स्थिति गंभीर है. ऐसे पीड़ितों में बसिया देवी (50 वर्ष) प्रीतम राय (12 वर्ष) बदरी राय 35 वर्ष शामिल हैं. इन लोगों का उपचार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र देवरी में करवाया गया है. जानकारी के मुताबिक डायरिया से पीड़ित सुखदेव पंडित का उपचार धनबाद में करवाया जा रहा हैं. वहीं दुखी राय 50 वर्ष, संगीता देवी 22 वर्ष, राधे साव 55 वर्ष, लखन साव 28 वर्ष, भुनेश्वरी देवी 65 वर्ष का उपचार गिरिडीह के एक निजी चिकित्सा केंद्र पर चल रहा है.

    इनका भी इलाज जारी
    साथ ही किशुन साव 19 वर्ष, सातो राय 29 वर्ष, काजल कुमारी 14 वर्ष, बदरी राय 50 वर्ष का उपचार चतरो स्थिति चिकित्सा केंद्र पर चल रहा है. प्रमीला देवी 40 वर्ष, मुरारी राय 15 वर्ष, नेपाली राय 40 वर्ष, बासदेव राय 20 वर्ष, अंश कुमार 5 वर्ष, सूरज कुमार 5 वर्ष का उपचार घर से करवाया जा रहा है. वहीं विनोद साव 6 वर्ष का उपचार बेलाटांड़ में वे सोनिका देवी 20 वर्ष का उपचार जमुआ में करवाया जा रहा है. .

    बीजेपी ने की ये मांग
    इधर बीजेपी जिला महामंत्री सुभाषचंद्र सिन्हा ने हथगड़ गांव में स्वास्थ्य शिविर का आयोजन कर डायरिया से पीड़ित लोगों का समुचित इलाज करने की मांग की है. साथ ही उन्होंने कहा कि राज्य की हेमंत सोरेन की सरकार सभी मोर्चे पर विफल है. आज भी लोग नदी नाला का दूषित पानी पीने को विवश हैं. इससे सरकार की विफलता प्रमाणित होती है.

    Tags: Disease, Jharkhand news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें