Home /News /jharkhand /

गिरिडीह में हाथियों का उत्पात, दुकान और घर को किया ध्वस्त, कई एकड़ में लगी फसल भी की बर्बाद

गिरिडीह में हाथियों का उत्पात, दुकान और घर को किया ध्वस्त, कई एकड़ में लगी फसल भी की बर्बाद

झारखंड के गिरिडीह जिले में एक बार फिर से हाथियों ने जमकर उत्पात मचाया है.

झारखंड के गिरिडीह जिले में एक बार फिर से हाथियों ने जमकर उत्पात मचाया है.

झारखंड के गिरिडीह जिले में एक बार फिर हाथियों (Elephants in Giridih ) का उत्पात देखने को मिला है. स्थानीय लोगों के अनुसार घटना करीब रात्री 1.30 से सुबह 4:00 के बीच की बताई जाती है. इस दौरान पूरे गांव में अफरातफरी की स्थिति बनी रही. किसी तरह ग्रामीणों के सहयोग से ही भारी मशक्कत के बाद हाथीयों के झुंड को वहां से भगाया गया.

अधिक पढ़ें ...

    रिपोर्ट- अजाज अहमद 

    गिरिडीह. झारखंड के गिरिडीह जिले में एक बार फिर हाथियों (Elephants in Giridih ) का उत्पात देखने को मिला है. जिले के सरिया अनुमंडल क्षेत्र के पूर्णीडीह पंचायत स्थित रत्नाडीह गांव में हाथियों के झुंड ने लाखों की फसल को नुकसान (Crops Ruined) पहुंचाया है. साथ ही कई घरों को भी ध्वस्त कर दिया है. मिली जानकारी के अनुसार हाथियों ने शिव शंकर महतो (पिता तोड़ी महतो), बसंती देवी (पति जागेश्वर प्रसाद), लोचन महतो पिता छोटू महतो), जानकी यादव (पिता गुरुदयाल यादव), विनोद वर्मा (पिता दिवंगत लातो महतो) समेत 7 लोगों की गेहूं और धान की फसल को बर्बाद कर दिया. साथ ही हाथियों ने बैगन और केले के फसलों को भी नुकसान पहुंचाया है.

    स्थानीय लोगों के अनुसार घटना करीब रात्री 1.30 से सुबह 4:00 के बीच की बताई जाती है. इस दौरान पूरे गांव में अफरातफरी की स्थिति बनी रही. किसी तरह ग्रामीणों के सहयोग से ही भारी मशक्कत के बाद हाथीयों के  झुंड को वहां से भगाया गया. बताया जा रहा है कि हथियों ने सबसे अत्यधिक नुकसान शिबू महतो के घर में किया है. यहां हाथियों के झुंड ने घर के एस्बेस्टस, सट्टर तोड़कर दुकान में रखे आलू, दाल, चावल और अन्य सामग्रियों को चट कर दिया, जिसकी कीमत तकरीबन 80000 बताई जाती है. वहीं मोकामो पंचायत के कारीपहरी निवासी शिबू मांझी के घर में भी हाथियों ने दीवार तोड़कर घर के आंगन में रखे हुये धन को खा गया. इस दौरान किसी तरह शिबू मांझी की पत्नी व बच्चे जान बचाकर घर के किसी कोने में दुबके रहे.

    पहले भी हाथियों ने बनाया है निशाना 
    बता दें, घटना के बाद से यहां के ग्रामीण काफी डरे-सहमे हैं. हालांकि, इस तरह की घटना इस इलाके में पहले भी हो चुकी है. इस बारे में एक पीड़िता चुनकी देवी का कहना है कि इससे पहले भी हाथियों के झुंड ने हमें निशाना बनया है, कई बार जानमाल की क्षति भी हुई है, लेकिन वन विभाग की ओर से हमें कोई सहयोग अभी तक नहीं मिल पाया है. वहीं पिछले साल की राशि भी अब तक नहीं मिल पायी है.

    वन विभाग की सहायता नहीं मिलने से ग्रामीण नाराज 

    घटना को लेकर पीड़ित सोमा देवी और शिव शंकर महतो बताते हैं कि कई बार वन विभाग का चक्कर लगा लगा कर लिखित आवेदन देकर अवगत कराया लेकिन पीड़ित को कोई लाभ नहीं मिल पाया. इसलिए यहां के ग्रामीण, पीड़ित परिवार वन विभाग से काफी नाराज हैं. बहरहाल घटना का इसकी सूचना वन विभाग को दी गई है. विभाग के पदाधिकारी ने ग्रामीणों से कहा है कि हथियों की वजह से जो भी नुकसान उसकी भरपाई वन विभाग के द्वारा की जाएगी.

    Tags: Elephants are reaching the village, Giridih news, Jharkhand news

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर