गिरिडीह में तारों के बीच फंसे तेंदुए की तड़प-तड़प कर मौत, देखते रह गये वनकर्मी

सिंचाई के लिए लगे पंपसेट की तार में तेंदुए फंस गया था.

सिंचाई के लिए लगे पंपसेट की तार में तेंदुए फंस गया था.

वनकर्मी तार से निकालकर तेंदुए (Leopard) को पिंजरे में कैद करना चाहते थे और जंगल ले जाकर सुरक्षित छोड़ देना चाहते थे. लेकिन उससे पहले ही तेंदुए की तड़प-तड़प कर मौत हो गई.

  • Share this:

गिरिडीह. झारखंड के गिरिडीह (Giridih) में बेजुबान तेंदुए (Leopard) की तड़प-तड़प कर मौत हो गई है. घटना गांवा थानाक्षेत्र के राजपुरा गांव की है. गांववालों ने लोहे की तार में तेंदुए को फंसा हुआ देख तो हंगामा मच गया. तेंदुआ तारों से निकलने के लिए लगातार संघर्ष कर रहा था. ग्रामीणों ने इसकी सूचना तुरंत वन विभाग (Forest Department) को दी. लेकिन जबतक वनकर्मी मौके पर पहुंचकर तेंदुए को बचा पाते, उसकी तड़प-तड़प कर मौत हो चुकी थी. बाद में वनकर्मियों ने तेंदुआ के शव को तारों से निकालकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया.



ग्रामीणों ने बताया कि रविवार सुबह कुछ ग्रामीण खेत में सिंचाई के काम में लगे हुए थे. जिस पंपसेट से सिंचाई की जा रही थी, उसी के स्लेटर तार में तेंदुआ फंस गया था. ग्रामीणों ने जब तेंदुए को छटपटाते हुए देखा तो पहले गांव जाकर लोगों को इसके बारे में बताया फिर वन विभाग को सूचना दी. सूचना मिलने के बाद वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची.



वनकर्मियों ने मौके पर पहुंचकर तेंदुए को बचाने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया. तेंदुए को पकड़ने के लिए हजारीबाग से पिंजड़ा मंगवाया गया. वनकर्मी तार से निकालकर तेंदुए को पिंजरे में कैद करना चाहते थे. और जंगल ले जाकर सुरक्षित छोड़ देना चाहते थे. लेकिन उससे पहले ही तेंदुए की मौत हो गई. वनकर्मियों ने तेंदुए की लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. ग्रामीणों के मुताबिक देर रात तेंदुआ जंगल से भटककर गांव की ओर आ गया था. इसी दौरान वह तार में फंस गया.



अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज