झारखंड के गिरिडीह में दर्दनाक हादसा, आग लगने से मां, बेटी और पोती की जलकर मौत

दो माह पूर्व गिरिडीह के पीरटांड में आग लगने से बुजुर्ग और नाबालिग की जिंदा जलकर मौत हो गई थी. (सांकेतिक तस्वीर)

दो माह पूर्व गिरिडीह के पीरटांड में आग लगने से बुजुर्ग और नाबालिग की जिंदा जलकर मौत हो गई थी. (सांकेतिक तस्वीर)

Giridih News: रविवार आधी रात को पड़ोसी ने आग की तेज लपटें उठते हुए देखा, तो उन्होंने शोर मचाना शुरू किया. शोर सुनकर ग्रामीण मौके पर पहुंचे और आग को बुझाया. हालांकि तब तक तीनों की जलकर मौत हो चुकी थी.

  • Share this:

गिरिडीह. झारखंड के गिरिडीह (Giridih) में दर्दनाक हादसा पेश आया. आग (Fire) में मां, बेटी और पोती जिंदा जल गईं. घटना रविवार रात की है. तीनों पुआल पर सो रही थीं. इसी दौरान पुआल में आग पकड़ ली, जिससे तीनों जिंदा जल गईं. इस दर्दनाक घटना से बिरनी थानाक्षेत्र के बलगो पंचायत के सलैयडीह गांव में कोहराम मच गया. पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है.



मृतकों में मुद्रिका देवी (55), बेटी गुड़िया कुमारी (14) और पोती झुलिया कुमारी (7) शामिल हैं. घटना की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवा दिया. मुद्रिका देवी के बेटे सीताराम यादव ने बताया कि तीनों रोज पुआल पर सोती थीं. पुआल में आग पकड़ने के चलते तीनों की जलकर मौत हो गई.



रविवार आधी रात को पड़ोसी ने आग की तेज लपटें उठते हुए देखा, तो उन्होंने शोर मचाना शुरू किया. शोर सुनकर ग्रामीण मौके पर पहुंचे और आग को बुझाया. हालांकि तब तक तीनों की जलकर मौत हो चुकी थी.



ग्रामीणों ने आशंका जताई है कि आग सेंकने के लिए जलाई गई अंगीठी के चलते ये हादसा हुआ. आग सेंकने के बाद तीनों को नींद आ गई. आग पुआल में लग गई. जिससे तीनों जिंदा जल गईं.


बता दें कि दो माह पूर्व भी गिरिडीह के पीरटांड के चिरकीडीहा में खलिहान में आग लगने से बुजुर्ग और नाबालिग की जिंदा जलकर मौत हो गई थी. जबकि तीन बच्चे झुलस गए थे.


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज