Home /News /jharkhand /

गिरिडीह: कैदी वाहन पर हमला कर प्रवेश दा को छुड़ाने वाला नक्सली 20 साल बाद गिरफ्तार

गिरिडीह: कैदी वाहन पर हमला कर प्रवेश दा को छुड़ाने वाला नक्सली 20 साल बाद गिरफ्तार

मनोज मरांडी साल 2013 में गिरिडीह में हुए कैदी वाहन ब्रेक कांड में शामिल था.

मनोज मरांडी साल 2013 में गिरिडीह में हुए कैदी वाहन ब्रेक कांड में शामिल था.

Anti Naxal Operation: गिरफ्तार नक्सली मनोज मरांडी वर्ष 2013 में गिरिडीह में हुए कैदी वाहन ब्रेक कांड में शामिल था. पूर्व में मुठभेड़ में मारे गए इनामी नक्सली चिराग दा के साथ मिलकर उसने कैदी वाहन पर हमला कर नक्सलियों के केंद्रीय कार्य समिति के सदस्य प्रवेश दा समेत कई माओवादी को मुक्त कराया था.

अधिक पढ़ें ...

    रिपोर्ट- एजाज अहमद

    गिरिडीह. बिहार की जमुई पुलिस और सीआरपीएफ की संयुक्त टीम ने 20 साल से फरार चल रहे हार्डकोर नक्सली मनोज मरांडी उर्फ प्रदीप मरांडी उर्फ अरुण संथाल उर्फ प्रताप मरांडी को गिरिडीह से गिरफ्तार किया. मनोज मरांडी की गिरफ्तारी गोविंदपुर स्थिति उसके घर से हुई. एसपी अभियान सुधांशु कुमार ने इसकी पुष्टि की. हालांकि उसके पास से कोई हथियार बरामद नहीं हुआ.

    दरअसल जमुई पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि मनोज मरांडी गोविंदपुर स्थित अपने घर पर आया हुआ है. इस सूचना पर सीआरपीएफ और पुलिस की संयुक्त टीम ने छापा मारकर उसे गिरफ्तार कर लिया. मनोज मरांडी पर जमुई के आठ थानों में ममले दर्ज हैं.

    मनोज मरांडी वर्ष 2013 में गिरिडीह में हुए कैदी वाहन ब्रेक कांड में शामिल था. पूर्व में मुठभेड़ में मारे गए इनामी नक्सली चिराग दा के साथ मिलकर इसने कैदी वाहन पर हमला कर नक्सलियों के केंद्रीय कार्य समिति के सदस्य प्रवेश दा समेत कई माओवादी को मुक्त कराया था. नक्सली मनोज मरांडी के खिलाफ कैदी वाहन ब्रेक कांड का केस गिरिडीह के मुफ्फसिल थाने में दर्ज है. वहीं जमुई के चकाई थाने में तीन, खैरा थाने में दो, चंद्रमंडी थाने में एक एवं बरहट थाने में दो मामले दर्ज हैं.

    जानकारी के अनुसार मनोज तीन साल से गुजरात के सूरत में रहकर कपड़ा फैक्ट्री में काम कर रहा था. फिर भी उसे संगठन में मिलिट्री विंग का जिम्मा मिला हुआ था. और वह संगठन विस्तार का काम कर रहा था.

    पुलिस मनोज मरांडी की गिरफ्तारी को बड़ी सफलता मान रही है. उसने सक्रिय रहते हुए पिंटू राणा, चिराग दा समेत बिहार-झारखंड के कई हार्डकोर नक्सली कमांडर के साथ रहकर काम किया था. पुलिस उससे पूछताछ कर रही है. मनोज खैरा के गिद्धेश्वर जंगल में ट्रेनिंग लेने के बाद नक्सली संगठन में शामिल हुआ था.

    Tags: Anti naxal operation, Giridih news, Jharkhand news, Naxal terror

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर