गिरिडीह: देर रात गांव पहुंचकर पुलिस ने दिखाई दबंगई, घर में घुसकर लोगों को पीटा, महिलाओं-बच्चों को भी नहीं छोड़ा

गांववालों ने इस मामले में एससी से लेकर सरकार तक को आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाई है.

गांववालों ने इस मामले में एससी से लेकर सरकार तक को आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाई है.

Giridih News: बताया जाता है कि रविवार देर रात 9:00 बजे सरिया थाने से तीन पुलिस वाले आरोपी अजीत पंडित के घर पहुंचे और पूछताछ करने लगे. अजीत पंडित घर पर नहीं मिला, तो पुलिस वाले गांववालों को पीटने लगे.

  • Share this:

रिपोर्ट- एजाज अहमद

गिरिडीह. झारखंड के गिरिडीह के सरिया नगर पंचायत अंतर्गत ठाकुरबाडी टोला में रविवार देर पुलिस ने ग्रामीणों के साथ मारपीट और गाली-गलौज की. जिसका लिखित आवेदन ग्रामीणों ने सोमवार को अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी नौशाद आलम को दिया. बताया जाता है कि रविवार देर रात 9:00 बजे सरिया थाने से तीन पुलिस वाले आरोपी अजीत पंडित के घर पहुंचे और पूछताछ करने लगे. अजीत पंडित घर पर नहीं था. तब अजीत पंडित के पिता सोमर पंडित पूछने लगा कि क्या बात है क्यों खोज रहे हैं. इसी बात पर आरोप के मुताबिक पुलिसवाले गाली-गलौज और मारपीट करने लगे. जिसको लेकर ग्रामीणों ने विरोध किया, तो सरिया थाने से और पुलिस को बुलवाकर गांववालों को पीटा गया. इस दौरान महिला, बच्चों और वृद्ध को भी चोटें आईं.

दरअसल मामला यह है कि दो बच्चों के बीच की लड़ाई इतनी बढ़ गई कि उनके परिजन एक-दूसरे से उलझ गए. मामला बढा और फिर एक पक्ष के द्वारा सरिया थाने में आवेदन दिया गया. जिसके आलोक में सरिया प्रशासन उक्त स्थल पर पहुंची और अभियुक्त को ढूंढने लगी. इसी बीच अभियुक्त के पिता सोमर पंडित ने कहा कि अजीत अभी घर में नहीं है. इसी बीच पुलिस गाली-गलौज व मारपीट करने लगी. आसपास के लोगों ने बाहर निकलकर विरोध किया. लोगों को इकट्ठा होते देख सरिया थाना से अन्य पुलिस को बुलाई गई. उसके बाद दलबल के साथ सरिया प्रशासन पहुंची और अन्य लोगों के साथ मारपीट करने लेगी.

ग्रामीणों ने सोमवार को एसडीपीओ नौशाद आलम सहित पुलिस अधीक्षक गिरिडीह, पुलिस महानिदेशक, गृह सचिव झारखंड सरकार को आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाई है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज