Home /News /jharkhand /

road construction scam contractor was using soil instead of stone dust to construct road villagers protested bruk

करोड़ों की लागत से बन रही सड़क में स्टोन डस्ट की जगह मिट्टी का इस्तेमाल, ग्रामीणों ने पकड़ी ठेकेदार की चोरी

गिरिडीह में सड़क निर्माण के लिए स्टोन डस्ट की जगह मिट्टी का इस्तेमाल किया जा रहा है.

गिरिडीह में सड़क निर्माण के लिए स्टोन डस्ट की जगह मिट्टी का इस्तेमाल किया जा रहा है.

Jharkhand News: सड़क निर्माण कार्य में कच्ची सड़क को खोदकर स्टोन डस्ट के साथ चिप्स और मेटल का प्रयोग करना था. लेकिन, यहां पर स्टोन डस्ट की जगह मिट्टी और थोड़ा बहुत चिप्स और मेटल मिलाकर काम चलाया जा रहा है. इस अनियमितता को लेकर स्थानीय ग्रामीण काफी आक्रोशित हैं.

अधिक पढ़ें ...

रिपोर्ट- एजाज अहमद 

गिरिडीह. झारखंड के गिरिडीह जिले के जमुआ प्रखंड में खोरीमहुआ-जमुआ मुख्य मार्ग के किसगो मोड़ से ढीबीटांड होते हुए चुंगलखार पंचायत सचिवालय तक सड़क का निर्माण किया जा रहा है. दरअसल  यहां ग्रामीण विकास मंत्रालय की ओर से इस आरईएओ रोड का निर्माण 2 करोड़ की लागत से किया जा रहा है. लेकिन, करोड़ों की राशि से निर्माण हो रहे इस सड़क में स्टोन चिप्स की जगह मिट्टी का इस्तेमाल किया जा रहा है.

स्थानीय लोगों के अनुसार इस निर्माण कार्य में शुरुआती दौर में ही संवेदक जितेंद्र शर्मा की मनमानी खुलकर सामने आने लगी है. सड़क निर्माण कार्य में कच्ची सड़क को खोदकर स्टोन डस्ट के साथ चिप्स और मेटल का प्रयोग करना था. लेकिन, यहां पर स्टोन डस्ट की जगह मिट्टी और थोड़ा बहुत चिप्स और मेटल मिलाकर काम चलाया जा रहा है. इस अनियमितता को लेकर स्थानीय ग्रामीण काफी आक्रोशित हैं.

ग्रामीणों ने सड़क नहीं बनाने की दी धमकी 

अब इस मामले में ग्रामीण बिना देर किए सुधार की मांग कर रहे हैं. ग्रामीणों के अनुसार अगर ठेकेदार अगर अच्छी क्वालिटी के मटेरियल के साथ निर्माण नहीं करेंगे तो सड़क नहीं बनाने दिया जाएगा. वहीं ग्रामीणों की एक शिकायत यह भी है कि उनकी रैयती खेत की मिट्टी जबरन काटकर सड़क में डाला जा रहा है जिससे उनको नुकसान होने वाला है क्योंकि अब मानसून भी आ चुका है. कुछ दिनों के बाद धान की बुवाई भी शुरू हो जाएगी.

कार्यपालक अभियंता ने भी पायी ठेकेदार की गलती 

सड़क निर्माण में हो रही अनियमितता और गुणवत्ता के साथ खिलवाड़ को लेकर कार्यपालक अभियंता किशोर किस्कू ने बताया कि मामले को संज्ञान में लिया गया है और घटनास्थल पर जाकर जांच पड़ताल भी की गयी है, जिसमें कुछ हद तक अनियमितता भी पाई गई है. मौके पर डीपीआर के अनुसार काम नहीं किया जा रहा है, क्योंकि चिप्स के साथ स्टोन डस्ट भी डालना है. लेकिन, ठेकेदार के द्वारा गोल पत्थर के साथ मिट्टी का इस्तेमाल किया जा रहा है. हालांकि इस अनियमितता को लेकर ठेकेदार को कार्यपालक अभियंता के द्वारा कड़ा दिशा निर्देश दिया गया है कि जो पहले मिट्टी डाला गया था उसे तुरंत हटाया जाए और डीपीआर के अनुसार चिप्स और स्टोन डस्ट के साथ मेटल का भी उपयोग करके सड़क निर्माण कराया जाए नहीं तो ठेकेदार को ब्लैक लिस्ट कर दिया जाएगा.

मिट्टी काटने को लेकर भी जताई नाराजगी 

वहीं जिस तरह से ग्रामीणों के रैयती जमीन से जबरन ठेकेदार के द्वारा मिट्टी उठाकर सड़क में डाला जा रहा है. उस पर भी कार्यपालक अभियंता ने नाराजगी जाहिर की और कहा कि खेत से मिट्टी उठाने से पहले ग्रामीणों का राय लेना जरूरी है. अगर वह मना कर रहे हैं तो आप जबरन नहीं उठा सकते हैं. कहीं और से मिट्टी ले आईए. अब देखना दिलचस्प होगा कि क्या कार्यपालक अभियंता के दिशा निर्देश व अल्टीमेटम से ठेकेदार अपने इस अनियमितता में सुधार लाते हैं या नहीं.

Tags: Giridih news, Jharkhand news, Road Tender

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर