Jharkhand News : अफवाहों का मकड़जाल या जागरूकता नहीं? टीके लगवाने नहीं पहुंच रहे ग्रामीण

पंचायत भवन, जहां वैक्सीन लगवाने नहीं पहुंचे ग्रामीण.

पंचायत भवन, जहां वैक्सीन लगवाने नहीं पहुंचे ग्रामीण.

Lack Of Awareness: झारखंड के ग्रामीण इलाकों तक जा पहुंचे कोरोनो संक्रमण से बचाव के लिए वैक्सीनेशन के लिए कोशिश तो की जा रही है, लेकिन तरह-तरह की अफवाहों के मकड़जाल में उलझे लोगों जागरूकता की कमी ने टीका लगवाने केन्द्र तक पहुंच ही नहीं रहे हैं.

  • Share this:

रिपोर्ट - एजाज अहमद

गिरीडीह. झारखंड के ग्रामीण इलाकों में कोरोना तो पहुंच चुका है, लेकिन वायरस संक्रमण से बचने के बारे में जागरूकता नहीं. जागरूकता अभियान की नाकामी की एक मिसाल यह है कि ग्रामीण इलाकों में लोग वैक्सीन लगवाने ही नहीं पहुंच रहे. बताया जा रहा है कि वैक्सीन को लेकर ग्रामीण अफवाहों और डर के शिकार हैं. इसलिए गिनती के ही लोग पहुंच टीका लगवाने स्वास्थ्य केन्द्र पहुंच रहे हैं. इस वजह से बड़ी संख्या में वैक्सीन के डोज खराब होने का खतरा भी बना हुआ है.

कई शहरी इलाकों से ये खबरें और तस्वीरें आ रही हैं कि लोग वैक्सीन के लिए वैक्सीनेशन सेंटर पर कतार लगाकर घंटों इंतज़ार के बाद टीका लगवा रहे हैं, लेकिन गांवों में यह तस्वीर एकदम उलट है. धनवार प्रखण्ड क्षेत्र के बलहारा पंचायत में वेक्सीन का पहला डोज़ देने के लिए स्वास्थ्य विभाग की टीम मुस्तैद दिखी, लेकिन घंटों में सिर्फ पांच लोग ही टीका लगवाने पहुंचे. इसके बाद गांव गांव जाकर लोगों को जागरूक करने की मुहिम छेड़ी गई.

ये भी पढ़ें : मंत्री पर भड़के निजी डॉक्टर ने कहा-'अफसरों को दौड़ाकर पीट सकता हूं'
10 लोग नहीं तो वैक्सीन नहीं!

सीएचओ अर्पिता कुमारी, एमपीडब्ल्यू जय कुमार विश्वकर्मा तथा कम्प्यूटर ऑपरेटर अजय कुमार वर्मा सहित पंचायत के मुखिया इस्लाम अंसारी बलहारा ने पंचायत सचिवालय पर घण्टों इंतज़ार किया,, लेकिन बहुत कम लोग वैक्सीन लगवाने पहुंचे. स्वास्थ्यकर्मियों ने साफ कहा कि 10 से कम लोगों के लिए वैक्सीनेशन कर पाना मुश्किल होगा.

jharkhand news, jharkhand samachar, corona in jharkhand, vaccination in jharkhand, झारखंड न्यूज़, झारखंड समाचार, झारखंड में कोरोना, झारखंड में वैक्सीनेशन
सीएचओ अर्पिता कुमारी के मुताबिक ग्रामीण अफवाहों के चलते वैक्सीन न लेकर ज़िंदगी दांव पर लगा रहे हैं.



वैक्सीन न लगवाकर जिंदगी दांव पर लगा रहे ग्रामीण

ऐसे में अंसारी ने गांव-गांव जाकर वैक्सीन लेने के लिए लोगों को जागरूक किया. इस मुहिम के बाद बड़ी मोश्किल से कुल 10 लोग पहुंचे तो स्वास्थ्यकर्मियों ने टीके लगाए. इस सम्बंध में सीएचओ अर्पिता कुमारी ने कहा 'कई क्षेत्रों में कोविड-19 के दौर में लोग वैक्सीन लेने के लिए उत्साहित हैं, वहीं यह दुर्भाग्य ही है कि ग्रामीण अब भी जागरूक नहीं हैं और अफवाहों के मकड़जाल में फंसकर ज़िंदगी दांव पर लगा रहे हैं.'

ये भी पढ़ें : हत्या समेत कई वारदातों में शामिल हार्डकोर नक्सली दासो घर से ही गिरफ्तार

क्या नहीं चली जागरूकता मुहिम?

बलहारा पंचायत के मुखिया की मानें तो बलहारा में अब तक कुल पांच बार टीकाकरण को लेकर कैम्प लगाया जा चुका है, पर पहले की अपेक्षा अब वेक्सीन लेने वाले लोगों की संख्या कम हो रही है. पूरी पंचायत में लगभग 3 हज़ार की आबादी है, लेकिन अभी तक कुल 563 लोगों ने ही वेक्सीन ली है, जो संकेत है कि लोगों को और जागरूक करने की ज़रूरत है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज