Home /News /jharkhand /

गिरिडीह के बालिका गृह में चल रहा था प्रताड़ना का खेल, CCTV कैमरों से रखी जाती थी बच्चियों पर नजर

गिरिडीह के बालिका गृह में चल रहा था प्रताड़ना का खेल, CCTV कैमरों से रखी जाती थी बच्चियों पर नजर

Giridih News: गिरिडीह बालिका गृह से 11 बच्चियों को दुमका और धनबाद शिफ्ट किया गया है. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

Giridih News: गिरिडीह बालिका गृह से 11 बच्चियों को दुमका और धनबाद शिफ्ट किया गया है. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

Giridih Balika Grih News: बालिका गृह की संचालिका और उनके बेटे पर लगातार गंभीर आरोप लग रहे थे. बच्चियों ने इनके खिलाफ वर्ष 2019 में भी शिकायत की थी जो जांच में सही पाए गए थे. हालांकि, उस वक्‍त इनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई थी. सितंबर 2020 में दो युवतियों ने जातिसूचक शब्‍द के इस्‍तेमाल के अलावा कई अन्‍य गंभीर आरोप लगाए थे. मामले की जांच कर सरकार को रिपोर्ट भेज दी गई थी. अब इनके खिलाफ कार्रवाई की गई है.

अधिक पढ़ें ...

    रिपोर्ट – एजाज अहमद

    गिरिडीह. झारखंड के गिरिडीह जिले में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है. यहां समाज कल्‍याण विभाग द्वारा संचालित एक बालिका गृह को सील कर दिया गया है. इस बालिका गृह की संचालिका और उनके बेटे पर बच्चियों को प्रताड़ित करने का आरोप लगा था. आरोप है कि मां-बेटे बच्चियों पर सीसीटीवी कैमरों से नजर रखते थे और उन्‍हें गंदा खाना भी परोसते थे. शिकायत मिलने पर समाज कल्‍याण विभाग ने कार्रवाई करते हुए बालिका गृह को सील कर दिया. इससे पहले इसकी मान्‍यता समाप्‍त कर दी गई थी. इस बालिका गृह से 11 बच्चियों को धनबाद और दुमका शिफ्ट कर दिया गया है.

    जानकारी के अनुसार इस बालिका गृह में कई वर्षों से प्रताड़ना का खेल चल रहा था. बालिका गृह की संचालिका शोभा कुमारी और उनके पुत्र पर लगातार बच्चियों को प्रताड़ित करने का आरोप लग रहा था. संचालिका और उनका पुत्र सीसीटीवी कैमरे से न केवल लड़कियों पर नजर रखता था, बल्कि उन्हें गंदा खाना भी परोसा जाता था. लड़कियों के पास पहनने लायक कपड़े भी नहीं थे. बच्चियों के आरोप पर वर्ष 2019 में भी जांच हुई थी. जांच में आरोप सही पाए जाने के बावजूद शोभा और उनके बेटे के खिलाफ कार्रवाई नहीं हुई थी.

    रांची एयरपोर्ट से रोजाना 37 फ्लाइट, हर दिन दिल्‍ली से आएगा पहला विमान

    पुराने आरोप की जांच के बाद मामला शांत पड़ गया था. इस बीच सितंबर 2020 में पाकुड़ और दुमका की दो युवतियों ने बालगृह की संचालिका पर गंभीर आरोप लगाया था. इसे लेकर मुफस्सिल थाना में लिखित शिकायत की गई थी. युवतियों ने जातिसूचक शब्दों का प्रयोग के अलावा कई तरह के आरोप लगाए थे. इसमें यह भी कहा गया था कि संचालिका का पुत्र अक्सर बालगृह आता है. दोनों युवतियों की शिकायत पर डीसी ने जांच शुरू की थी.

    जांच में यह साफ हुआ कि संचालिका और उनके पुत्र द्वारा लड़कियों पर जुल्म किया जा रहा था. संचालिका का पुत्र सीसीटीवी से पूरे बालगृह पर नजर रखता था. यह भी साफ हुआ कि यहां पर रह रही बच्चियों के साथ जुल्म हो रहा है. वर्ष 2020 में ही यह रिपोर्ट सरकार को सौंपी गई थी. अब इस बालगृह को समाज कल्याण पदाधिकारी अलका हेम्बरम ने सील कर दिया.

    Tags: Giridih news, Jharkhand news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर