होम /न्यूज /झारखंड /Godda News : गोड्डा में बढ़ रही सिलबट्टे की दुकानों पर भीड़, लोग बोले- इस पर पिसे मसाले अधिक स्वादिष्ट

Godda News : गोड्डा में बढ़ रही सिलबट्टे की दुकानों पर भीड़, लोग बोले- इस पर पिसे मसाले अधिक स्वादिष्ट

पत्थर के सिलबट्टी व चक्की (जाता) में पिसा हुआ मसाला फायदेमंद होता है. इसके साथ साथ पौराणिक दौर में घर की महिलाएं सिलबट् ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट – आदित्य आनंद

गोड्डा. जिले के राजकीय मेला में इस बार विभिन्न प्रकार के सिलबट्टे बिकने के लिए आए हैं. जहां लोगों की भीड़ देखी जा रही है. आधुनिक दौर में लोग मिक्सी में मसाले पीसना अधिक पसंद करते हैं. लेकिन इस बीच लोगों की रूचि सिलबट्टे की दुकान में अधिक देखी गई. लोगों ने बताया कि यह सिलबट्टा अब बाजारों में कम मिलते है. मेले में यह सस्ते दामों पर मिल रहे है, इसलिए खरीदारी के लिए लोग पहुंच रहे हैं.

इस बार मेले में कई प्रकार के सिलबट्टी बिकने के लिए आए हुए हैं. जिसमें गोड्डा के राजाभिट्ठा में तैयार किया गया सिलबट्टा, बिहार के मुंगेर का सिलबट्टा जिसमें बेहद खूबसूरत कलाकृतियां भी बनाई गई है और बिहार के सासाराम के पत्थर का बना सिलबट्टा मौजूद है. वहीं सिलबट्टे का बाजार इस बार मेले की निकास द्वार पर लगा है जहां कुल 6 अलग- अलग दुकाने इस बार सिलबट्टे के लगाए गए हैं.

क्या कहते हैं दुकानदार

मेले में आए सिलबट्टा बेचने वाले दुकानदारों मुदिसर दरवे ने बताया वह गोड्डा का ही रहने वाला है और इस बार मेले में बिक्री ठीक है. नए दौर में भले ही लोग अब मिक्सी की ओर अधिक आकर्षित हो रहे हो लेकिन अब भी सिलबट्टे की बिक्री मेले व बाजारों में ठीक-ठाक ही होती है.

क्योंकि मसाला पीसने के साथ-साथ सिलबट्टा और चक्की (जाता) का इस्तेमाल हिंदू धर्म के शादी विवाह के नियम मिष्ठान में भी होता है. इसलिए लगभग घरों में सिलबट्टा लो खरीद कर ले जाते हैं. इसके साथ साथ सिलबट्टा मिक्सी से कई गुना कम कीमतों पर उपलब्ध हो जाता है इसलिए ग्रामीण क्षेत्रों में अब भी लोग सिलबट्टे में पिसा हुआ मसाला ही खाना पसंद करते हैं.

सिलबट्टे और चक्की के इस्तेमाल के फ़ायदे

पत्थर के सिलबट्टी व चक्की (जाता) में पिसा हुआ मसाला फायदेमंद होता है. इसके साथ साथ पौराणिक दौर में घर की महिलाएं सिलबट्टा में मसाला व जड़ी बूटियों को पीते थे जिससे उनका दैनिक व्यायाम भी होता था. इसके साथ साथ सिलबट्टी में पीसे मसाले से बनाया गया भोजन भी स्वादिष्ट होता है.

वहीं मिक्सर में मसाले और बिजली मिल में दाल दरने और गेहूं पीसने पर अनाज और मसाले में मौजूद पोषक तत्व अधिक तापमान होने के कारण नष्ट हो जाते हैं. इसीलिए मिक्सर और बिजली मिल में पिसा हुआ अनाज और मसाला हमारे लिए फायदेमंद नहीं होता है. सिलबट्टा और चक्की जाता में पीसा हुआ मसाला और गेहूं हमारे लिए फायदेमंद होता है.

Tags: Godda news, Jharkhand news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें