गोड्डा के सुड़नी गांव में भीषण अगलगी, 30 घरों में सबकुछ जलकर खाक

आग में पीड़ित परिवारों के सबकुछ जलकर खाक हो गये.

आग में पीड़ित परिवारों के सबकुछ जलकर खाक हो गये.

Fire in Godda: आग कैसे लगी इसका पता नहीं चल पाया है. लेकिन आग इतनी भयानक थी कि गांव के 30 घर जलकर पूरी तरह राख हो गये.

  • Share this:
रिपोर्ट- गौरव झा

गोड्डा. झारखंड के गोड्डा जिले के मेहरमा थानाक्षेत्र के सुड़नी गांव में अचानक आग लग जाने से 30 घर जलकर खाक हो गये. आग कैसे लगी इसका पता नहीं चल पाया है. लेकिन आग इतनी भयानक रूप ले ली कि 30 घर जलकर पूरी तरह राख हो गये. घरवालों के पास सिर्फ बदन पर पहने हुए कपड़े ही बच पाये. आग की लपटों को देखकर आसपास के लोग एकत्रित हुए लेकिन आग बुझाने में कामयाब नहीं हो पाये. आग की लपटें इतनी भयानक थी कि उस पर नियंत्रण पाना काफी चुनौती भरा था.

इस घटना में घर में रखे सारे सामान जलकर राख हो गये. मवेशी भी बुरी तरह जल गये. मिली जानकारी के अनुसार आगजनी की घटना में घर में रखे अनाज, कपड़ा, बर्तन, पैसा सहित महत्वपूर्ण कागजात जलकर राख हो गये. पीड़ित परिवार गरीबी रेखा से नीचे गुजर बसर करने वाले हैं.

पीड़िता नुरेसा खातून ने बताया कि उनकी बेटी का बारात कल आने वाला था. लेकिन एक दिन आग लग जाने से गहनों से लेकर शादी से जुड़े सारे सामान जलकर राख हो गये. अब बेटी की शादी कैसे होगी.
इसी परिवार के आलमगीर का कहना है कि वह सरकार से मांग करते हैं कि उसकी बहन की शादी की जिम्मेवारी लें, ताकि बहन की शादी हो सके.

बताते चलें कि खबर लिखे जाने तक प्रशासन की लापरवाही इतनी ज्यादा थी कि आग बुझाने के लिए आग लगने के 2 घंटे बाद भी फायर बिग्रेड की गाड़ी नहीं पहुंच सकी.

प्रखंड प्रमुख कुमारी डिलेशवरी ने भी बताया कि मैं इन सभी पीड़ित परिवार को सरकार के द्वारा मिलने वाला हर प्रकार की मदद दिलाउऊंगी. साथ ही यह भी कहा कि सरकार को हर पंचायत में एक अग्नियंत्र की व्यवस्था करनी चाहिए.



मौके पर पहुंची विधायक दीपिका पांडे सिंह ने कहा कि शत-प्रतिशत क्षति हुई है. किसी का कुछ भी नहीं बचा है. विधायक ने पीड़ित परिवार को तत्काल खाने पीने से लेकर अन्य जरूरी सामान मुहैया कराने का भरोसा दिलाया. उन्होंने यह भी कहा कि सरकार की तरफ से मदद दिलाने की कोशिश करेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज