Home /News /jharkhand /

in the scorching heat salute to two lady policemen performing duty with a child in her lap nodaa

चिलचिलाती धूप में बच्चों के संग ड्यूटी निभा रहीं इन दोनों महिला पुलिसकर्मियों को सलाम

पुलिसकर्मियों की ड्यूटी आसान नहीं होती, यह बात इन दोनों महिला पुलिसकर्मियो की कहानी जानकर समझी जा सकती है.

पुलिसकर्मियों की ड्यूटी आसान नहीं होती, यह बात इन दोनों महिला पुलिसकर्मियो की कहानी जानकर समझी जा सकती है.

Election Duty: आरती कुमारी खूंटी की रहनेवाली हैं जबकि शारदा रांची की. आरती अपने एक हाथ से सालभर के बच्चे को टांगी हुई थीं और दूसरे हाथ से छतरी पकड़े कड़कड़ाती धूप में ड्यूटी कर रही थीं. आरती ने कहा कि अभी तो दिन का वक्त है, कई दफा तो रात में भी ड्यूटी करनी पड़ती है और उस वक्त भी कंधे पर बच्चा रहता है.

अधिक पढ़ें ...

गौरव कुमार झा

गोड्डा. कुछ भ्रष्ट पुलिसवालों के कारण आमआदमी के बीच कोई सम्मानजनक राय नहीं है, जबकि पुलिस महकमे में एक से एक ईमानदार अफसर और कर्मचारी हैं, जो अपना दायित्व पूरी निष्ठा के साथ निभाते हैं. पंचायत चुनाव के लिए हुए पहले चरण की वोटिंग की मतगणना के दौरान गोड्डा कॉलेज स्थित मतगणना केंद्र पर मुस्तैदी से तैनात एक महिला पुलिसकर्मी दिखी. उनकी गोद में सालभर का बच्चा था और वे इस कड़कड़ाती धूप में भी पूरी निष्ठा के साथ अपने कर्तव्य का पालन कर रही थीं.

इस महिला पुलिसकर्मी का नाम है आरती कुमारी. इन्हीं के साथ शारदा भी अपनी ड्यूटी पर मौजूद थीं. आरती कुमारी खूंटी की रहनेवाली हैं जबकि शारदा रांची की. आरती अपने एक हाथ से सालभर के बच्चे को टांगी हुई थीं और दूसरे हाथ से छतरी पकड़े कड़कड़ाती धूप में ड्यूटी कर रही थीं. इन दोनों महिलाओं को मतगणना केंद्र पर शांति व्यवस्था दुरुस्त रखने की जिम्मेदारी सौंपी गई थी. एक साथ पारिवारिक और प्रशासनिक जिम्मेवारियों को निभाती आरती को देख लोग लगातार उनकी तारीफ कर रहे थे.

न्यूज18 के पूछने पर आरती ने बताया कि वे खूंटी की रहने वाली हैं और IRB 8 की महिला जवान हैं. उन्होंने कहा कि कंधे पर बच्चे को रखकर घंटों ड्यूटी करना मुश्किल तो है, पर बच्चे को छोड़ें कहां? मां के बिना बच्चा रहता भी तो नहीं है और कोई मां अपने बच्चे को छोड़ भी तो नहीं सकती है. इसलिए दोनों को लेकर ही चलना पड़ता है. आरती ने कहा कि अभी तो दिन का वक्त है, कई दफा तो रात में भी ड्यूटी करनी पड़ती है और उस वक्त भी कंधे पर बच्चा रहता है.

आरती के पास ही खड़ी IRB की महिला जवान शारदा ने बताया कि वे रांची की रहने वाली हैं. उनकी भी 2 साल की एक बच्ची हैं. अगर ड्यूटी लग जाती है तो उसे निभाना भी पड़ता हैं. क्योंकि जैसे एक बच्चे को रखना हमारा कर्तव्य है, वैसे ही अपनी ड्यूटी करना भी हमारी जिम्मेदारी है.

Tags: Godda news, Jharkhand news, Panchayat Chunav

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर