Women’s Day: रंग लाने लगा महिलाओं का हुनर, ऐसे संवार रही हैं अपना भविष्य

कौशल विकास केंद्र पर काम करती महिलाएं

गोड्डा जिले के भतडीहा पंचायत स्थित ग्रामीण स्वरोजगार कौशल विकास केंद्र पर बेरोजगारों को हुनरमंद बनाने का प्रशिक्षण दिया जा रहा है. यहां पुरुषों की तुलना में महिलाओं की भागीदारी ज्यादा देखने को मिल रही है. महिलाएं नर्सिंग और सिलाई सीखकर अपने पैरों पर खड़े होकर अपना और अपने परिवार का भविष्य संवार रही है.

  • Share this:
शिक्षित बेरोजगारों की बढ़ती फौज देश एवं समाज के लिए सबसे बड़ी चिंता का विषय था, क्योंकि सभी को सरकारी नौकरी देना किसी भी सरकार के लिए संभव नहीं है. इसी बात को ध्यान में रखते हुए रघुवर सरकार ने झारखंड कौशल विकास मिशन के तहत गोड्डा लोकसभा में युवक-युवतियों को हुनरमंद बनाने के लिए कई कौशल केंद्रों की स्थापना की. सरकार की यह पहल अब रंग लाने लगी है. गोड्डा के ग्रामीण क्षेत्रों की आदिवासी और अल्पसंख्यक लड़कियों और महिलाओं का हुनर अब रंग लाने लगी है.

गोड्डा जिले के भतडीहा पंचायत स्थित ग्रामीण स्वरोजगार कौशल विकास केंद्र पर बेरोजगारों को हुनरमंद बनाने का प्रशिक्षण दिया जा रहा है. यहां पुरुषों की तुलना में महिलाओं की भागीदारी ज्यादा देखने को मिल रही है. महिलाएं नर्सिंग और सिलाई सीखकर अपने पैरों पर खड़े होकर अपना और अपने परिवार का भविष्य संवार रही है. इन विकास केंद्रों पर आदिवासी और अल्पसंख्यकों का रुझान ज्यादा देखने को मिलता है. फसियां गांव की रहने वाली पीहू, अमरपुर गांव की शबीन और लेंगडाडीह गांव की खुशबू किस्सू को अब अपने पैरों पर खड़े होने का जूनून सवार है.

यह भी पढ़ें-  Women's Day: मिलिए बिलासपुर की इस 'पैडगर्ल' से, ज‍िसने बदल दी महिलाओं की जिंदगी

गोड्डा के ग्रामीण क्षेत्र की महिलाएं अब पीछे मुड़कर देखने को तैयार नहीं है. रामनगर की रहने वाली रीना को कौशल विकास कार्यक्रम से काफी मदद ली है. परिवार की खराब आर्थिक स्थिति के कारण रीना कमजोर हो गई थी, लेकिन कौशव विकास कार्यक्रम के बाद वह एक बार फिर अपने और अपने परिवार का सहारा बन गई है. ग्रामीण परिवेश से प्रशिक्षण केंद्र में प्रशिक्षु बनकर आने वाली निरुपमा और सावित्री इसी केंद्र पर मास्टर ट्रेनर बन चुकी है. सावित्री का कहना है कि पहले उन्हें यही लगता था कि महिलाएं पुरष की बराबरी नहीं कर सकती, लेकिन जब से कौशल विकास केंद्र सि जुड़ी है, तब से लगा कि महिलाओं को सशक्त होना जरूरी है. उन्होंने कहा कि अगर महिलाओं को सही दिशा मिले तो वे किसी भी पुरुष से कम नहीं है.

यह भी पढ़ें-  सरकार ने नहीं सुनी बात, तो खुद सफाई करने सीवरेज में उतरे सपा विधायक

यह भी पढ़ें- Women's Day: सेनेटरी नैपकिन बांट कर महिलाओं को जागरूक कर रहा बिहार का 'वुमनिया गैंग'

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.