लाइव टीवी

मजदूर परिवार ने लगाई मदद की गुहार, तो SP ने आधे घंटे में भिजवाये खाने-पीने के सामान
Godda News in Hindi

News18 Jharkhand
Updated: April 1, 2020, 2:28 PM IST
मजदूर परिवार ने लगाई मदद की गुहार, तो SP ने आधे घंटे में भिजवाये खाने-पीने के सामान
एसपी शैलेन्द्र वर्णवाल की पहल पर मजदूर परिवार को तत्काल राशन मुहैया कराया गया

एसपी शैलेन्द्र वर्णवाल (SP Shailendra Varnwal) ने कहा कि जिला प्रशासन की कोशिश है कि इस लॉकडाउन (Lockdown) में किसी को खाने-पीने की परेशानी न हो. सरकार ने भी निर्देश दिया है कि लॉकडाउन में कोई भूखे न सोए, इसका ख्याल रखना प्रशासन की जिम्मेदारी है. इसलिए जैसे ही उपेन्द्र गुप्ता का वीडियो देखा, उन्हें मदद पहुंचाई गई.

  • Share this:
गोड्डा. कोरोना (Corona) से बचने के लिए लॉकडाउन (Lockdown) जरूरी है. लेकिन इस लॉकडाउन का असर कई घरों के चूल्हे पर पड़ने लगा है. खासकर वैसे गरीब मजदूर (Laborer), जो दिहाड़ी मजदूरी कर परिवार चलाते हैं. पथरगामा प्रखंड के सोनारचक गांव के उपेन्द्र गुप्ता के घर खाने-पीने का सामान नहीं बचा. उपेन्द्र मजदूरी कर परिवार चलाते हैं. ऐसे में उन्होंने वीडियो जारी कर अपने परिवार के लिए मदद की गुहार लगाई. मीडिया के जरिये यह वीडियो एसपी शैलेन्द्र वर्णवाल (SP Shailendra Varnwal) तक पहुंचा. उन्होंने तत्काल एक जवान को खाने-पीने के सामान के साथ उपेन्द्र गुप्ता के घर भेजकर मदद पहुंचाई.

आ गई थी भूखे रहने की नौबत 

उपेन्द्र गुप्ता ने बताया कि लॉकडाउन के चलते वह मजदूरी करने के लिए बाहर नहीं निकल रहे. कुछ पैसे थे, जिससे अबतक काम चला. लेकिन पैसे खत्म होने के बाद उनके परिवार के सामने भूखे रहने की नौबत आ गई. इसलिए वीडियो जारी कर मदद की अपील. अब एसपी की पहल पर उन्हें खाने-पीने का सामान मुहैया कराया गया है.



प्रशासन गरीबों का रख रहा ख्याल 



एसपी शैलेन्द्र वर्णवाल ने कहा कि जिला प्रशासन की कोशिश है कि इस लॉकडाउन में किसी को खाने-पीने की परेशानी न हो. सरकार ने भी निर्देश दिया है कि लॉकडाउन में कोई भूखे न सोए, इसका ख्याल रखना प्रशासन की जिम्मेदारी है. इसलिए जैसे ही उपेन्द्र गुप्ता का वीडियो देखा, उन्हें मदद पहुंचाई गई.

सरकार का निर्देश- लॉकडाउन में कोई भूखा न रहे

बता दें कि लॉकडाउन में गरीबों को परेशानी न हो, इसके लिए सरकार ने राज्यभर के थानों में सेंट्रलाइज्ड किचन की व्यवस्था की है. सीएम किचन भी चलाया जा रहा है. गरीबों को दो महीने का राशन एडवांस देने का आदेश दिया गया है. पेंशनधारियों को भी एडवांस पेंशन दिये जा रहे हैं. सीएम हेमंत सोरेन का साफ निर्देश है कि लॉकडाउन में कोई भूखा न रहे, यह प्रशासन को सुनिश्चित कराना है. उपेन्द्र गुप्ता के परिवार में उनके अलावा पत्नी और चार छोटे-छोटे बच्चे हैं. हालांकि अब उन्हें भूखे नहीं सोना पड़ेगा.

रिपोर्ट- अजीत कुमार

ये भी पढ़ें- अभिभावकों के लिए अच्छी खबर!लॉकडाउन अवधि की फीस नहीं लेने के स्कूलों को निर्देश

 

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गोड्डा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 1, 2020, 2:27 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading