Home /News /jharkhand /

फेसबुक पर लिखा था- लड़कियों को झाड़ियों में जबरदस्ती खींचकर ले जाते हैं! अब मिली बिठलहा की धमकी

फेसबुक पर लिखा था- लड़कियों को झाड़ियों में जबरदस्ती खींचकर ले जाते हैं! अब मिली बिठलहा की धमकी

Jharkhand News: गोड्डा कॉलेज की प्रोफेसर रजनी शर्मा ने फेसबुक पर सोहराय को लेकर एक पोस्ट किया था, जिसके बाद अब उन्हें धमकी मिलने लगी है.

Jharkhand News: गोड्डा कॉलेज की प्रोफेसर रजनी शर्मा ने फेसबुक पर सोहराय को लेकर एक पोस्ट किया था, जिसके बाद अब उन्हें धमकी मिलने लगी है.

Jharkhand News: झारखंड के गोड्डा कॉलेज की प्रोफेसर रजनी मुर्मू इन दिनों अपने फेसबुक पोस्ट के कारण सुर्खियों में है. दरअसल रजनी मुर्मू आदिवासी समाज से आती हैं और बचपन से सोहराय (Sohrai) मनाते आ रही हैं. रजनी मुर्मू ने पिछले दिनों सोहराय के नाम पर हो रही अश्लीलता के बारे में फेसबुक पर एक पोस्ट लिखा था, जिसके बाद उन्हें धमकी मिलने लगी है.

अधिक पढ़ें ...

रिपोर्ट- गौरव कुमार झा 

गोड्डा. झारखंड के गोड्डा कॉलेज की प्रोफेसर रजनी मुर्मू इन दिनों अपने फेसबुक पोस्ट के कारण सुर्खियों में है. दरअसल रजनी मुर्मू आदिवासी समाज से आती हैं और बचपन से सोहराय (Sohrai) मनाते आ रही हैं. रजनी मुर्मू ने पिछले दिनों सोहराय के नाम पर हो रही अश्लीलता के बारे में फेसबुक पर एक पोस्ट लिखा था. रजनी मुर्मू ने लिखा था- ‘सोहराय इन दिनों अश्लील होता जा रहा हैं. जब से संथाल शहरों में बसने लगे तो यहां भी लोगों ने एक दिवसीय सोहराय मनाना आरंभ किया. खासकर के सोहराय मनाने की जिम्मेदारी सरकारी कॉलेज में पढने वाले छात्रों ने उठाई. मैंने दो बार एसपी कॉलेज दुमका का सोहराय अटेंड किया है. जहां मैं देख रही थी कि लड़के शालीनता से नृत्य करने के बजाय लड़कियों के सामने बदतमीजी से ‘सोगोय’ करते हैं. सोगोय  करते-करते लड़कियों के इतने करीब आ जाते हैं कि लड़कियों के लिए नाचना बहुत मुश्किल हो जाता है. सुनने को तो ये भी आता है कि अंधेरा हो जाने के बाद सीनियर लड़के कॉलेज में नयी आई लड़कियों को झाड़ियों की तरफ जबरदस्ती खींच कर ले जाते हैं और आयोजक मंडल इन सब बातों को नजरअंदाज कर चलते हैं’.


प्रोफेसर के इस पोस्ट के बाद आदिवासी समाज के विद्यार्थियों ने इनका विरोध किया है. दुमका के कुछ स्टूडेंट ने इनके खिलाफ दुमका नगर थाने में आवेदन भी दिया है और लागातर इन्हें बिठलहा करने और मारने की धमकी देने लगे है. धमकी मिलने के बाद प्रोफेसर रजनी मुर्मू ने गोड्डा के नगर थाना में FIR दर्ज कराया है.

कुछ लोग लड़कियों को करते हैं परेशान
इस दौरान रजनी मुर्मू ने कहा कि मैं आदिवासी समाज से आती हूं और मैंने देखा है कि झारखंड में आदिवासी महिलाओं की स्थिति दयनीय है. इसलिए मैंने महिलाओं के लिए आवास उठाई है. सोहराय मुझे बहुत पसंद है और मैं खुद इसमें नृत्य करने के लिए जाती हूं. लेकिन, मैंने पिछली बार देखा था कि नृत्य के दौरान कुछ लड़के नशे में धुत होकर वहां आ जाते हैं और अच्छे माहौल को खराब करने की कोशिश करते हैं. इस दौरान लड़कियों को नृत्य करने में परेशानी हो रही थी. मुझे भी वहां से हटना पड़ा.
जानिए क्या होता है बिठलहा
बिठलाहा आदिवासी समुदाय का वो सजा है जिसके तहत किसी को भी समाज से दूर रहने की सजा सुनाई जाती है. यानी कि जिसे बिठलाहा घोषित किया जाता हैं उसे संथाल समाज अपनी जाति बिरादरी से बाहर कर देती है. उसे समाज के किसी धार्मिक समारोह, पर्व या आयोजन से दूर कर समाज से बाहर कर दिया जाता है.
इधर इस पूरे प्रकरण को लेकर गोड्डा नगर थाना प्रभारी मुकेश पांडेय ने बताया कि प्रोफेसर रजनी मुर्मू द्वारा आवेदन प्राप्त हुआ है. साथ ही प्रोफेसर द्वारा एक नंबर भी साझा किया गया है, जिससे कॉल कर उन्हें धमकी दी जा रही थी. पुलिस तामम बिंदुओं पर जांच कर रही है.

Tags: Facebook Post, Jharkhand news, Jharkhand Police

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर