Home /News /jharkhand /

talibani decision of a panchayat in godda panchayat got the women boycotted by villagers nodaa

गोड्डा में एक पंचायत का तालिबानी फैसला, गांववालों से कराया महिला का बायकॉट, जानिए वजह

पंचायत के फरमान के खिलाफ महिला ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई.

पंचायत के फरमान के खिलाफ महिला ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई.

Alimony Case: एक महिला ने 8 साल पहले पति पर केस कर रखा है. मामला कोर्ट में है. पति तब से महिला को गुजारा भत्ता दे रहा है. लेकिन अब गांव के लोग चाहते हैं कि महिला केस वापस ले ले. पंचायत की राय भी यही है. लेकिन जब महिला ने यह सुझाव मानने से इनकार कर दिया तो पंचायत ने महिला का कटवा (गांव से बाहर) करने का आदेश दे दिया.

अधिक पढ़ें ...

रिपोर्ट : गौरव कुमार झा

गोड्डा. नगर थाना क्षेत्र के बड़हरा से पंचायतों का एक अजीबो-गरीब फैसला आज सामने आया है. यहां पंचायत ने एक महिला को कटवा (गांव से बाहर) कर दिए जाने का आदेश दिया है. महिला ने पंचों की बात मानने से इनकार कर दिया था, इसलिए पंचायत ने यह फैसला सुनाया है. पंचों के इस फैसले के खिलाफ महिला ने नगर थाने में शिकायत दर्ज कराई है.

दरअसल, बड़हरा की रहनेवाली खतीजा नाम की महिला ने अपने पति खुर्शीद पर गुजारा भत्ता का केस किया था. इस केस का आधार खुर्शीद की दूसरी शादी थी. उसके बाद से खुर्शीद उसे लगातार गुजारा भत्ता दे रहा था. खतीजा के मुताबिक, पिछले दिनों गांव में एक पंचायत रखी गई. गांव वाले चाहते थे कि खतीजा यह केस वापस ले ले. इस बाबत हुई पंचायत ने भी खतीजा को यही कहा. लेकिन खतीजा ने केस वापस लेने से इनकार कर दिया. पंचायत के दौरान पंचों ने उसे पंचायत में उपस्थित रहने को लेकर सिग्नेचर करने को कहा, पर खतीजा ने हस्ताक्षर नहीं किए. सिग्नेचर नहीं करने पर पंच ने फैसला सुनाया कि खतीजा पंचों की बातों को नहीं मान रही तो इसे कट्टू कर दिया जाए, यानी गांव से बाहर कर दिया जाए.

बड़हरा के ही रहनेवाले खुर्शीद ने बताया कि खतीजा से उसने कोर्ट मैरिज की थी. शादी के 4 दिन बाद गांववालों की सहमति से खुर्शिद ने दूसरी शादी ललमटिया की मरियम से कर ली थी. खतीजा का कहना है कि इस मामले के 8 साल गुजर जाने के बाद अब गांववाले दबाव बना रहे हैं कि केस वापस ले लो. गांव और पंचों के दबाव में न आने पर पंचायत ने आदेश जारी किया कि खतीजा को कटवा कर दिया जाए.

पंच के मुताबिक, हमने यह नहीं कहा कि गांव से बाहर कर दिया जाए. हमने तो बस यह कहा कि हम उनसे बातचीत अब नहीं करेंगे. पहले भी इनसे हमारी बातचीत बहुत कम होती थी. लेकिन खतीजा बताती हैं कि पिछले दिनों उसकी बहन के लड़के की शादी थी. पूरे गांव को न्योता दिया गया था कि शादी में आएं. लेकिन पंचों ने फैसला सुनाया कि जो भी उनके घर शादी में जाएगा उन्हें 551 रुपए जुर्माना भरना होगा. न चुकाने पर उनका भी कटवा कर दिया जाएगा. खतीजा के मुताबिक, यही वजह है कि उसकी बहन के यहां शादी में बहुत कम लोग आए. इस पूरे मामले में खतीजा ने पंचों के खिलाफ नगर थाने में शिकायत दर्ज कराई है.

Tags: Crime against women, Godda news, Jharkhand news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर