Home /News /jharkhand /

गुमला में खेल-खेल में एक ही परिवार के 3 बच्चों ने खाया कीटनाशक, हालत गंभीर

गुमला में खेल-खेल में एक ही परिवार के 3 बच्चों ने खाया कीटनाशक, हालत गंभीर

तीनों बच्चों का सदर अस्पताल में इलाज चल रहा है.

तीनों बच्चों का सदर अस्पताल में इलाज चल रहा है.

Gumla News: एक ही परिवार के तीन बच्चे, स्नेहा कुमारी (5 साल), अश्विन पूरा (3 साल) और अमित मिंज (4 साल) घर में खेल रहे थे. इसी दौरान तीनों बच्चों ने भूलवश कीटनाशक खा लिया. कीटनाशक खाते ही तीनों बच्चे बेहोश होकर गिर गये. तीनों बच्चों को सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

अधिक पढ़ें ...

    रिपोर्ट- रुपेश भगत

    गुमला. झारखंड के गुमला में एक ही परिवार के तीन बच्चों ने खेल-खेल में कीटनाशक खा लिया. आनन-फानन में तीनों को सदर अस्पताल ले जाया गया, जहां से एक बच्ची को रांची रेफर कर दिया गया. बाकी दो बच्चे की हालत स्थिर बताई गई है. घटना सदर थाना क्षेत्र के गणेशपुर डिपाटोली गांव की है.

    गणेशपुर डिपाटोली गांव के एक ही परिवार के तीन बच्चे, स्नेहा कुमारी (5 साल), अश्विन पूरा (3 साल) और अमित मिंज (4 साल) घर में खेल रहे थे. इसी दौरान तीनों बच्चों ने भूलवश कीटनाशक का सेवन कर लिया. कीटनाशक खाते ही तीनों बच्चे बेहोश होकर गिर गये.

    स्नेहा की मां बिरसमुनी देवी ने बताया कि उसकी तबीयत खराब थी. इस कारण वह घर में सो रही थी. दोनों बच्चे अश्विन और स्नेहा परिवार के ही अन्य बच्चा अमित मिंज के साथ घर में खेल रहे थे. खेलते के दौरान ही घर में रखे तीनों बच्चो ने कीटनाशक खा लिया. थोड़ी देर बाद तीनों बच्चे घर में बेहोश पड़े मिले.

    तीनों बच्चों को तत्काल सदर अस्पताल ले जाया गया, जहां दो बच्चों की हालत इलाज के बाद स्थिर बताई गई. वहीं स्नेहा की गंभीर हालत को देखते हुए उसे रांची रेफर कर दिया गया.

    सदर अस्पताल के डॉक्टर प्रेमचंद्र भगत ने बताया कि कीटनाशक खाने के चलते 3 बच्चों को बेहोशी की हालत में अस्पताल लाया गया. उनमें से दो, अश्विन उरांव और अमित मिंज की हालत स्थिर है. वहीं स्नेहा कुमारी की हालत गंभीर बनी हुई है. उसे बेहतर इलाज के लिए रांची रेफर कर दिया गया.

    Tags: Gumla news, Jharkhand news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर