Union Budget 2018-19 Union Budget 2018-19

बाल विवाह का विरोध कर गुमला की बेटी बनी बहादुरी की मिसाल

Sushil Kumar Singh | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: January 14, 2018, 9:15 AM IST
बाल विवाह का विरोध कर गुमला की बेटी बनी बहादुरी की मिसाल
ऋतु कुमारी
Sushil Kumar Singh | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: January 14, 2018, 9:15 AM IST
गुमला जिले की बहादुर बेटी ऋतु कुमारी ने अपने बाल विवाह का विरोध कर न केवल गुमला बल्कि पूरे राज्य में अपनी एक अलग पहचान बनाई है. इसे लेकर ऋतु को राज्य सरकार ने एक लाख रुपए का सम्मान देने के साथ ही उसकी पढ़ाई की भी पूरी व्यावस्था का भरोसा दिया है. ऋतु अपनी पढ़ाई के साथ ही गांव की अन्य बच्चियों को भी बाल विवाह के प्रति जागरुक करना चाहती हैं.

गुमला की बहादुर बेटी ऋतु कुमारी ने अपनी शादी का विरोध कर जिले से लेकर राज्य तक अपनी पहचान बना ली है. यह कदम उठाने के बाद वह गुमला के उपायुक्त से मिलने उनके कार्यालय पहुंची जहां ऋतु का उपायुक्त ने काफी गरमजोशी से स्वागत किया.

इस दौरान ऋतु ने ग्रामीण इलाकों में आज भी जारी बाल विवाह के बारे में उपायुक्त को अवगत कराया. मीडिया से बातचीत के दौरान ऋतु ने कहा कि उसकी इच्छा है की वह आगे अपनी पढ़ाई जारी रखे साथ ही समाज की अन्य बेटियो को भी बाल बिवाह के प्रति जागरुक करे.

उपायुक्त श्रवण साय भी ऋतु कुमारी से मिलकर और उनकी बातों को सुनकर काफी उत्साहित हुए. उन्होंने ऐसी बेटियों को ही वास्तव में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का ब्रांड एंबेसडर बनाया जाना चाहिए. उन्होंने कहा की ऋ्तु के इस तरह के निर्णय से पूरे समाज को सबक मिलता है. वहीं इस दौरान मौजूद बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष शम्भु सिंह ने भी उपायुक्त द्वारा ऋतु को हर संभव सहायता का भरोसा दिया.

 
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर