पुल बनने के बाद बदली गुमला के इन गांवों की तस्वीर

गुमला जिले में कई सालों से पुल की मांग उठ रही थी. पुल नहीं होने के कारण स्थानीय लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ता था. जिले का कामडरा व बिशुनपुर के जोरी जमटी में बारिश के दौरान कोयल नदी उफान पर आ जाती है.

Sushil Kumar Singh | News18 Jharkhand
Updated: July 28, 2018, 8:41 AM IST
पुल बनने के बाद बदली गुमला के इन गांवों की तस्वीर
पुल बनने के बाद स्कूल जाते बच्चे
Sushil Kumar Singh | News18 Jharkhand
Updated: July 28, 2018, 8:41 AM IST
गुमला के ग्रामीण इलाकों में कोयल नदी पर दो पुलों का निर्माण होने से इलाके की तस्वीर बदल गई है. पुल निर्माण के बाद स्थानीय लोगों को बारिश में हो रही परेशानियों से निज़ात मिली है. पुल का निर्माण नहीं होने से पहले गुमला में बारिश में हर साल करीब दर्जनभर लोगों की अस्पताल नहीं पहुंच पाने के कारण मौत हो जाती थी.

गुमला जिले में कई सालों से पुल की मांग उठ रही थी. पुल नहीं होने के कारण स्थानीय लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ता था. जिले का कामडरा व बिशुनपुर के जोरी जमटी में बारिश के दौरान कोयल नदी उफान पर आ जाती है. इस नदी को पार करने का कोई रास्ता नहीं था, जिसके चलते बच्चे स्कूल नहीं जा पाते थे. कोयल नदी पर कई सालों से पुल बनाने की मांग की जा रही थी.

विधानसभा अध्यक्ष दिनेश उरांव की सक्रियता से झारखंड पथ निर्माण विभाग द्वारा दो पुलों का निर्माण किया गया. इस पुल के निर्माण के बाद स्थानीय लोगों को हो रही परेशानियों से निजात मिली है. ग्रामीणों का कहना है कि इन पुलों के नहीं होने के चलते उन्हें करीब पचास किमी की दुरी तय करनी पड़ती थी, जबकि पुल निर्माण के बाद पांच किमी की दुरी तय कर वे ब्लॉक तक पहुंच जाते हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गुमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 28, 2018, 8:41 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...