कोरोना से लड़ते हुए कॉलेज छात्रा ने लिख डाली किताब, लोगों को मिल रही प्रेरणा

मानसी की इस किताब से लोगों को कोरोना के इस दौर में हिम्मत न हारने की प्रेरणा मिल रही है.

मानसी की इस किताब से लोगों को कोरोना के इस दौर में हिम्मत न हारने की प्रेरणा मिल रही है.

Gumla News: गत 27 अप्रैल को मानसी की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आयी. इसके बाद उसने खुद को होम आइसलोट कर लिया. 15 दिन के आइसलोसन पीरियड में प्रत्येक दिन के अनुभव को लिखकर मानसी ने इसे एक किताब का शक्ल दे दिया.

  • Share this:

रिपोर्ट- रुपेश भगत

गुमला. झारखंड के गुमला जिले के बसिया प्रखंड में कोरोना संक्रमित (Corona Infection) कॉलेज छात्रा ने लोगों को प्रेरित करने के लिए एक किताब लिख डाली. मानसी कुमारी संत जेवियर्स कॉलेज, रांची की छात्रा है. उसने 'द वन मंथ स्टोरी' नाम से किताब लिखी है. जानकारी के मुताबिक मानसी कोरोना पॉजिटिव हुई तो खुद को घर में आइसलोट करते हुए उस दौरान यह किताब लिख डाली. मानसी का यह प्रयास विपरीत परिस्थितियों में भी कुछ नया करने की प्रेरणा देती है.

किताब में अपने अनुभवों को किया साझा

बसिया निवासी रंजीत चौधरी की पुत्री मानसी की यह किताब काफी सुर्खियां बटोर रही है. अमेजॉन, फ्लिपकार्ट जैसे ई-कॉमर्स वेबसाइट पर किताब उपलब्ध है. इस किताब में मानसी ने कोरोना संक्रमण के अनुभवों को साझा किया है. मानसी रांची में रहकर बीएससी की पढ़ाई कर रही है. लेकिन रांची में कोविड के बढ़ते केसेज को देखते हुए फिलहाल अपने घर गुमला आ गई है. गत 27 अप्रैल को उसकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आयी. इसके बाद उसने खुद को होम आइसलोट कर लिया. और कुछ नया करने की ठानी. करीब 15 दिनों के अपने आइसलोसन पीरियड में प्रत्येक दिन के अनुभव को लिखकर मानसी ने इसे एक किताब का शक्ल दे दिया.
मानसी का कहना है कि विपरीत परिस्थितियों में भी लोगों को हिम्मत नहीं हारनी चाहिए. कुछ नया करने के लिए पहल करनी चाहिए.

डीसी करेंगे सम्मानित

पिता की माने तो उनकी बेटी के इस काम के चलते उनका मान बढ़ा है. बसिया प्रखंड के बीडीओ रविन्द्र गुप्ता का कहना है कि मानसी के इस प्रयास की वे सराहना करते हैं. मानसी को जिले के डीसी से सम्मानित करवाया जाएगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज