लिव इन रिलेशन में रहने वाले जोड़ों का दर्द- कोई तो करा दे शादी
Gumla News in Hindi

लिव इन रिलेशन में रहने वाले जोड़ों का दर्द- कोई तो करा दे शादी
लिव इन रिलेशन में रहने वाला युवक

रायडीह प्रखंड के सिलम गांव के मुनेश्वर उरांव पिछले दो साल से लिव इन रिलेशन में रह रहा है. लेकिन आर्थिक तंगी के कारण वह अपनी साथी से शादी नहीं कर पा रहा.

  • Share this:
झारखंड के गुमला में कई ऐसे जोड़े हैं, जो लिव इन रिलेशन में रहते हैं, लेकिन आर्थिक तंगी के कारण शादी नहीं कर पाये हैं. ऐसे जोड़ों को इस बात का दुख है कि शादी नहीं होने के कारण उनके रिश्ते को सामाजिक मान्यता नहीं मिल पाई है.

रायडीह प्रखंड के सिलम गांव के मुनेश्वर उरांव पिछले दो साल से लिव इन रिलेशन में रह रहा है. लेकिन आर्थिक तंगी के कारण वह अपनी साथी से शादी नहीं कर पा रहा. दोनों का एक बच्चा भी हो गया है. मुनेश्वर कहता है कि दूसरों की शादी को देखकर उसे दुख होता है कि उसकी भी शादी धुमधाम से होती. लेकिन वह अपनी साथी के साथ खुश है.

इसी गांव का राहुल उरांव घरवालों की मर्जी के खिलाफ जाकर अपनी प्रेमिका के साथ रहने लगा. राहुल को भी मलाल है कि आर्थिक तंगी ने उसके शादी के सपने को साकार होने से रोक दिया. लिव इन रिलेशन में रहने वाले मीत उरांव का कहना है कि बिना शादी के भी वह जीवन में खुश हैं. लेकिन शादी हो जाती तो समाज में उन्हें अलग निगाह से देखा जाता.



सामाजिक कार्यकर्ता मांगु उरांव की माने तो इस तरह के कई मामले आये दिन सामने आते रहते हैं. कई बार सामाजिक स्तर पर पहल कर ऐसे जोड़ों की सामूहिक शादी करवाई जाती है. लेकिन कई अभी भी पैसे की तंगी के कारण पति-पत्नी नहीं बन पाये हैं. ऐसे लोगों के लिए सरकार को पहल करनी चाहिए.
रिपोर्ट- सुशील कुमार सिंह

ये भी पढ़ें- पहले चार बच्चों के मां-बाप, फिर पति-पत्नी बनें गोवर्धन और साकिंग

PHOTOS: लिव इन रिलेशन में रहने वाले 132 जोड़ों ने ऐसे रचाई शादी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading