Home /News /jharkhand /

नवजात पोते के दूध के लिए 80 साल की दादी ने बेच दी जमीन

नवजात पोते के दूध के लिए 80 साल की दादी ने बेच दी जमीन

दादी कलारा कुल्लू कहती हैं कि मुझे अपनी परवाह नहीं है. पोते को जिंदा रखने के लिए जमीन बेच दी. जो भी पैसे आए, उससे दूध का खर्च चल रहा है.

दादी कलारा कुल्लू कहती हैं कि मुझे अपनी परवाह नहीं है. पोते को जिंदा रखने के लिए जमीन बेच दी. जो भी पैसे आए, उससे दूध का खर्च चल रहा है.

बच्‍चे की दादी कलारा कुल्लू कहती हैं कि उन्‍हें अपनी परवाह नहीं है. पोते को जिंदा रखने के लिए जमीन बेच दी. इससे जो भी पैसे आए, उससे दूध का खर्च चल रहा है.

    गुमला में 80 साल की एक दादी ने पोते के दूध के लिए अपनी जमीन बेच दी. दरअसल, बेटे- बहू की मौत के बाद दादी पर दूधमुहे पोते की जिम्मेदारी आ गई. पोता कुपोषित था. इसलिए उसको कुपोषण से बाहर निकालने के लिए दादी ने अपनी जमीन बेच दी और दूध का खर्च चलाया. पोता अब स्वस्थ है.

    अपनी नहीं, पोते की चिंता

    दादी कलारा कुल्लू ने कहा, 'मुझे अपनी परवाह नहीं है. पोते को जिंदा रखने के लिए जमीन बेच दी. जो भी पैसे आए, उससे दूध का खर्च चल रहा है. आगे के लिए कहीं से कोई मदद मिल जाती तो अच्छा होता. मैं उम्र के अंतिम पड़ाव पर हूं. आगे इसको कौन देखेगा. इसको लेकर चिंतित हूं.'

    पहले बेटे, फिर बहू की भी मौत

    रायडीह थाना क्षेत्र के सनियाकोना गांव की रहने वाली कलारा कुल्लु ने कुछ महीने पहले बेटे को खो दिया. फिर कुछ दिन बाद पोते को जन्म देने के दौरान बहू की भी मौत हो गई. इसके बाद नवजात पोते की सारी जिम्मेदारी उन पर आ गई. घर में पोते के दूध के लिए पैसे नहीं थे. इसलिए दादी ने अपनी थोड़ी बची जमीन बेच दी. फिलहाल पोता गुमला सदर अस्पताल के कुपोषण केंद्र में भर्ती है. बताया जाता है कि पहले वह कुपोषित था, लेकिन अब स्वस्थ है.

    पोते के स्वास्थ्य में सुधार 

    कुपोषण केंद्र की प्रभारी नर्स की मानें तो जब दादी अपने पोते को लेकर यहां आई थीं, तब बच्‍चे की स्थिति काफी खराब थी. लेकिन, अब बहुत सुधार हुआ है. कुपोषण केन्द्र से निकलने के बाद बाल कल्याण समिति की ओर से बच्चे के पालन- पोषण की व्यवस्था की जाएगी.

    रिपोर्ट- सुशील कुमार

    ये भी पढ़ें- हजारीबाग मेडिकल कॉलेज में इसी सत्र से शुरू हो सकती है पढ़ाई

    नदी पार करते वक्त आई बाढ़, बाल- बाल बचीं बीडीओ, बह गई सरकारी गाड़ी

    Tags: Gumla news, Jharkhand news

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर