चोरी करने घर में घुसे बदमाशों ने आदिवासी युवती को अकेली देख किया गैंगरेप, गिरफ्तार

पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार तीनों आरोपी युवती के ही गांव के रहने वाले हैं और वो उससे पूर्व में परिचित भी हैं
पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार तीनों आरोपी युवती के ही गांव के रहने वाले हैं और वो उससे पूर्व में परिचित भी हैं

पुलिस के मुताबिक तीनों आरोपी युवती के ही गांव के रहने वाले हैं और उससे पूर्व से परिचित हैं. गिरफ्तार आरोपियों में से एक बीएसएफ जवान का जबकि शेष दो रिटायर्ड शिक्षक के बेटे हैं

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 23, 2020, 8:03 PM IST
  • Share this:
गुमला. झारखंड के गुमला (Gumla) में घर में घुसकर आदिवासी युवती के साथ गैंगरेप (Gangrape) का मामला सामने आया है. चोरी की नीयत से घर में घुसे तीन बदमाशों ने वहां आदिवासी युवती (Tribal Girl Gangrape) को अकेला पाकर उसके साथ बारी-बारी से गैंगरेप किया. वारदात की सूचना मिलने पर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर तीनों आरोपियों को धर दबोचा. घटना मंगलवार देर रात की है. पुलिस ने बुधवार को पीड़िता का मेडिकल जांच (Medical Test) कराने के बाद तीनों आरोपियों को मीडिया के सामने प्रस्तुत कर जेल भेज दिया है.

सदर थाना में प्रेस वार्ता आयोजित कर एसडीपीओ मनीष चंद्र लाल और थाना प्रभारी शंकर ठाकुर ने बताया कि पीड़ित युवती मूल रूप से दडदाग थाना क्षेत्र के घाघरा की रहने वाली है. वो वर्तमान में गुमला के चंपानगर में किराए पर रहकर पढ़ाई करती है. तीनों आरोपी युवक भी उसी गांव के रहने वाले हैं और युवती से पूर्व से परिचित हैं. गिरफ्तार आरोपियों के नाम- सौरभ भगत, रौशन पहान और उज्जवल कुजूर है. उन्होंने बताया कि रौशन बीएसएफ जवान का जबकि सौरभ और उज्जवल रिटायर्ड शिक्षक के बेटे हैं.

उन्होंने बताया कि इनकी गिरफ्तारी में थाना के सअनि लक्ष्मण भगत की अहम भूमिका है जिन्होंने थाना प्रभारी के निर्देश पर तत्काल घटनास्थल पर पहुंचकर आरोपियों को धर दबोचा. पीड़ित युवती ने अपने एक रिश्तेदार और सहेली को मैसेज कर वारदात की जानकारी दी थी.



युवती को कमरे में अकेला पाकर तीनों बदमाशों ने उससे गैंगरेप किया
पीड़िता द्वारा पुलिस को दी गई शिकायत के मुताबिक 21 सितंबर को वो अपने घर से किराए के मकान में वापस लौटी थी. इसके अगले दिन यानी 22 सितंबर को खाना खाने के बाद वो सो गई थी. इस दौरान रात 11 बजे के करीब उसे एहसास हुआ कि घर में कोई घुस आया है और कमरे के बाहर मकान मालिक के द्वारा रखे गए छड़ (सरिया) को चुरा रहा है. आवाज सुन मैं जाग गई और अपने मोबाइल फोन से दुंदरिया में रहने वाले रिश्तेदार को मैसेज कर इसकी जानकारी दी. साथ ही कमरे के बगल में ही किराए पर रहने वाली अपनी सहेली को भी मैसेज भेज कर आगाह किया कि घर में कोई घुस गया है. इसलिए दरवाजा मत खोलना.

पीड़िता की मानें तो तीनों अपराधियों ने घर के दरवाजे को लात मार कर खोला और अंदर घुस आए. यहां उन्होंने उसे कमरे में अकेला पाकर हैवानियत की. इस दौरान पीड़िता के रिश्तेदार (जिसे उसने मैसेज भेजा था) ने डायल 100 पर फोन कर चोरी की नीयत से घर में युवकों के घुसने की सूचना दी. इसके बाद रिश्तेदार गश्ती पुलिस को लेकर मौके पर पहुंचे. इसके बाद पुलिस ने दरवाजा खुलवाया और तीनों अपराधियों को रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज