अपना शहर चुनें

States

बहादुर बेटी ने बाल विवाह का किया विरोध, पढ़ाई छुड़वाकर शादी कराने वाले मां-बाप की BDO से की शिकायत

कस्तूरबा विद्यालय में नवी कक्षा में पढ़ने वाली इस बहादुर बेटी गुरुवार को घर से भाग गई. (सांकेतिक फोटो)
कस्तूरबा विद्यालय में नवी कक्षा में पढ़ने वाली इस बहादुर बेटी गुरुवार को घर से भाग गई. (सांकेतिक फोटो)

Child Marriage: झारखंड के गुमला जिले में नौवीं कक्षा में पढ़ने वाली 15 साल की किशोरी ने अपनी शादी का किया विरोध. BDO और पुलिस से शिकायत कर कहा कि अभी वह पढ़ना चाहती है.

  • Share this:
गुमला. भले ही बाल विवाह (Child Marriage) को लेकर लाख जागरूकता अभियान चलाया जाए, लेकिन आज भी लोग इस गलत परंपरा में फंसे हुए हैं. हालांकि, अब बाल विवाह का विरोध खुद बच्चियां ही कर रही हैं. इसके साथ ही समाज में मिसाल पेश कर रही हैं. इसी तरह का हिम्मत दिखाकर समाज को आइना दिखाने का काम किया है गुमला जिले (Gumla District) की 15 वर्षीय सुलेखा कुमारी (Sulekha Kumari) ने. सुलेखा की शादी उसके माता- पिता ने उसकी इच्छा के विरुद्ध तय कर दी. लेकिन जैसे ही सुलेखा को इस बात की जानकारी मिली तो उसने इसका न केवल परिवार में विरोध किया, बल्कि जिला के बाल कल्याण समिति को लिखित शिकायत भी की.

शिकायत में उसने शादी न कर पढ़ाई की इच्छा जताई है. दरअसल, सुलेखा के माता- पिता ने उसकी शादी 26 साल के एक युवक से तय कर दी थी. फरवरी में शादी की तिथि भी तय कर दी गई थी. इसकी जानकारी मिलने पर पहले तो सुलेखा ने अपने माता- पिता को पूरा समझने की कोशिश की. लेकिन जब वे लोग शादी न करने पर मारने- पीटने की धमकी दी तो पालकोट के कस्तूरबा विद्यालय में नवी कक्षा में पढ़ने वाली इस बहादुर बेटी गुरुवार को घर से भाग गई.

जीवन को बेहतार बनाने में लगी हुई हैं
इसके बाद वह सीधे पालकोट बीडीओ व थाना प्रभारी से इसको लेकर गुहार लगाई. उसके बाद पालकोट के दोनों प्रशासनिक पदाधिकारियों ने उसे जिला मुख्यालय में सीडब्ल्यूसी के कार्यालय में भेज दिया, जहां न केवल उसे सरक्षण दिया गया, बल्कि उसके इच्छा के अनुसार उसे पढ़ाई की व्यवस्था करवाने की आश्वाशन दी गयी. फिलहाल सुलेखा प्रशासनिक देखरेख में है. सुलेखा की इस साहस की दासता पूरे जिले मेंं चर्चा का मुद्दा बना हुआ है. हालांकि, जिले में इससे पहले अन्य बेटियों ने भी इस तरह किया है, जो आज पढ़ाई कर अपने जीवन को बेहतार बनाने में लगी हुई हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज