ओजोन दिवस पर जागरूकता फैलाने के लिए वन विभाग की कार्यशाला

Sushil Kumar Singh | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: September 16, 2017, 9:37 PM IST
ओजोन दिवस पर जागरूकता फैलाने के लिए वन विभाग की कार्यशाला
मानव जाति ही है जिम्मेवार
Sushil Kumar Singh | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: September 16, 2017, 9:37 PM IST
मानव जाति को सूर्य से निकलने वाली अल्ट्राबैंगनी किरणों से बचाने वाले ओजोन लेयर के लगातार क्षतिग्रस्त होने को लेकर गुमला वन विभाग ने एक जागरूकता शिविर का आयोजन किया. इसमें स्कूल के छात्र-छात्राओं के साथ ग्रामीणों ने भी खुलकर अपनी बात रखी.

आज के इस भागमदौड़ जीवन में लोग विलासिता भरे जीवन जीने के लिए एसी, फ्रीज सहित कई ऐसे इलेक्ट्रोनिक सामानों का उपयोग कर रहे हैं जिनसे लगातार हानिकारक गैस निकल रहे हैं. इन इलेक्ट्रोनिक सामानों के अधिक उपयोग से निकलने वाली हानिकारक गैस के कारण मानव जाति को सुरक्षा प्रदान करने वाली ओजोन लेयर लगातार क्षतिग्रस्त होते जा रही है. इसके कारण मानव जाति को स्कीन की बीमारी सहित कई अन्य बीमारियां होने का खतरा बढ़ गया है.

इसी विषय को गंभीरता से लेते हुए कार्याशाला में स्कूली बच्चों के साथ ग्रामीणों ने न केवल चिंता व्यक्त की बल्कि इसके लिए मानव जाति को लापरवाह और जिम्मेवार बताया. इन्होंने जंगल की कटाई के बजाय वन क्षेत्र को बढ़ाने की दिशा में सक्रियता से काम करने की बात कही.

ग्रामीणों व स्कूली छात्रो में इस तरह की जानकारी व गंभीरता देखकर वन विभाग के पदाधिकारी भी काफी उत्साहित दिखे. उन्होंने कहा कि वर्तमान में भारत में इसको लेकर कोई खास दिक्कत नहीं है. लेकिन अभी से अगर हम सतर्क रहें तो भविष्य में उत्पन्न होनेवाली समस्याओं को रोका जा सकता है. समस्याओं को रोकने की पहल इस तरह के कार्यक्रमों से ही की जा सकती है.
First published: September 16, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर