अंधविश्वास में पड़कर 4 लोगों की पीट-पीटकर हत्या मामले में 8 लोग गिरफ्तार

ओझा ने गांववालों को कथित डायन का हुलिया बताया था, उसी के आधार पर चेहरा मैच कराकर चार लोगों की हत्या कर दी गई थी.

News18 Jharkhand
Updated: July 23, 2019, 12:11 PM IST
अंधविश्वास में पड़कर 4 लोगों की पीट-पीटकर हत्या मामले में 8 लोग गिरफ्तार
ओझा ने कथित डायन का हुलिया बताया था, उसी के आधार पर चार लोगों की हत्या कर दी गई
News18 Jharkhand
Updated: July 23, 2019, 12:11 PM IST
झारखंड के गुमला में डायन-बिसाही के शक में 4 लोगों की हत्या के मामले में पुलिस ने कई अहम खुलासे किए हैं. पुलिस ने इस सिलसिले में पाहन समेत 8 लोगों को गिरफ्तार किया है. कुल 56 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है. इनमें से 16 पर नामजद एफआईआर दर्ज हुई है.

रविवार तड़के सिसई के नगर सिसकारी गांव में 4 लोगों की पीट-पीट कर हत्या कर दी गई थी. मृतकों में 2 महिलाएं भी शामिल थीं.

हुलिया के आधार पर 4 लोगों की हत्याएं
एसपी अंजनी कुमार झा ने कहा कि कुछ दिन पहले गांव के कुछ लोग बीमार पड़े थे. तब वे लोग मांडर में एक ओझा के पास गये थे. ओझा ने इसे डायन-बिसाही का मामला बताकर कथित डायन का हुलिया बताया था. उसी के आधार पर गांववालों ने मारे गये चारों लोगों को चिन्हित किया. फिर पीट- पीट कर उनको मौत के घाट उतार दिया.

अंधविश्वास में चार लोगों की हत्या


56 लोगों पर प्राथमिकी दर्ज 
एसपी ने बताया कि मृतक की बेटी के बयान पर सोलह लोगों पर नामजद और चालीस अज्ञात पर केस दर्ज किया गया है. आगे की छानबीन जारी है. गिरफ्तार पाहन सुकरा उरांव और पुजारी तुला उरांव ने घटना में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है. इन्हीं के निशानदेही पर कुन्दरु उरांव, लालू उरांव, राम उरांव, शुकु उरांव, महावीर उरांव और तुला उरांव को गिरफ्तार किया गया है.
Loading...

पीट- पीट कर की थी हत्याएं
गुमला के सिसई के नगर सिसकारी गांव में रविवार तड़के घर से निकाल कर चार की लोगों की पीट- पीट कर हत्या कर दी गई. मृतकों में दो महिला और दो पुरुष शामिल थे. मृतकों की पहचान चापा भगत, पत्नी पीरी देवी, सुना उरांव और फगनी देवी के रूप में हुई थी. जानकारी के मुताबिक इस सनसनीखेज वारदात को अंजाम देने का फैसला चार दिन पहले, बुधवार को ही कर लिया गया था. उस दिन गांव में डायन-बिसाही को लेकर बैठक हुई थी. बैठक में कई लोगों ने अपनी परेशानी के लिए चापा भगत, पत्नी पीरी देवी, सुना उरांव और फगनी देवी को जिम्मेवार ठहराया. साथ ही इन्हें दोषी करार दिया. बाद में बैठक में इनके सफाये का निर्णय लिया  गया.

(रिपोर्ट- सुशील कुमार)

ये भी पढ़ें- गुमला: 4 दिन पहले बैठक कर रची थी साजिश, अंधविश्वास में ऐसे गईं चार जानें

गुमला में डायन-बिसाही कहकर चार बुजुर्गों की लाठी-डंडे से पीट-पीटकर हत्‍या

 
First published: July 23, 2019, 11:37 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...