होम /न्यूज /झारखंड /NIA कोर्ट के आदेश पर इनामी नक्सली की जमीन जब्त, 10 साल से पुलिस के लिए बना है सिर दर्द

NIA कोर्ट के आदेश पर इनामी नक्सली की जमीन जब्त, 10 साल से पुलिस के लिए बना है सिर दर्द

रांची एनआईए कोर्ट के आदेश पर गुमला प्रशासन ने इनामी नक्लसी की जमीन को जब्त कर लिया.

रांची एनआईए कोर्ट के आदेश पर गुमला प्रशासन ने इनामी नक्लसी की जमीन को जब्त कर लिया.

कुख्यात माओवादी अजीम अंसारी के विरुद्ध गुमला जिले के अलावा लोहरदगा, लातेहार में कई मामले दर्ज हैं. पिछले एक दशक से वह प ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट- रुपेश भगत

गुमला. झारखंड के गुमला में एनआईए कोर्ट रांची के आदेश पर जिला प्रशासन ने हार्डकोर माओवादी एरिया कमांडर अजीम अंसारी की 57 डिसमिल जमीन को अपने कब्जे में ले लिया. प्रशासन ने यह कार्रवाई गुमला सदर थाना क्षेत्र के लूटो पनसो में डुगडुगी बजाकर व लाउडस्पीकर से जानकारी देने के बाद की. हार्डकोर माओवादी एरिया कमांडर पर 2 लाख का इनाम घोषित है. अजीम अंसारी पनसो गांव का रहने वाला है. कुछ माह पूर्व प्रशासन ने उसके विरुद्ध इनाम की राशि बढ़ाकर 5 लाख करने का प्रस्ताव भेजा है.

कुख्यात माओवादी अजीम के विरुद्ध गुमला जिले के अलावा लोहरदगा, लातेहार में कई मामले दर्ज हैं. पिछले एक दशक से वह पुलिस के लिए सिरदर्द बना हुआ है. उसके विरूद्ध लातेहार जिले के चंदवा थाना कांड संख्या 158/19 की सुनवाई एनआईए कोर्ट रांची की विशेष अदालत में चल रही है. इसी मामले पर जिला प्रशासन ने उसके चल- अचल संपत्ति का पता लगाया. इसी के आलोक में गुमला अंचल कार्यालय ने मामले की छानबीन की, जिसमें लूटो पनसो में अंसारी के नाम 57 डिसमिल जमीन जब्त कर प्रशासन ने खरीद बिक्री पर रोक लगा दिया है.

जब्त जमीन पर नक्सली कमांडर के परिजन कृषि कार्य भी नहीं कर सकते हैं. अंसारी पिछले 10 सालों से गुमला, लोहरदगा, लातेहार सहित अन्य जिलों की पुलिस के लिए सर दर्द बना हुआ है. उसके द्वारा कई नक्सली घटनाओं को अंजाम दिया गया है. फिर भी वह लगातार पुलिस से बचता आया है.

Tags: Gumla news, Jharkhand news, Naxal violence, NIA Court

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें