लाइव टीवी

हेमंत सोरेन की तूफानी चुनावी सभा, महागठबंधन के उम्मीदवार सुखदेव भगत के लिए मांगा वोट

Sushil Kumar Singh | News18 Jharkhand
Updated: April 25, 2019, 4:37 PM IST
हेमंत सोरेन की तूफानी चुनावी सभा, महागठबंधन के उम्मीदवार सुखदेव भगत के लिए मांगा वोट
पूर्व सीएम हेमंत सोरेन

पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने तूफानी चुनावी सभा कर महागठबंधन के उम्मीदवार सुखदेव भगत के लिए वोट मांगा.

  • Share this:
झारखंड के गुमला जिले में पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने तूफानी चुनावी सभा कर महागठबंधन के उम्मीदवार सुखदेव भगत के लिए वोट मांगा. साथ ही उन्होंने बीजेपी के केंद्र और राज्य सरकारों पर जमकर निशाना साधा. इस दौरान उनके साथ जेएमएम विधायक चमड़ा लिंडा और कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आलम भी मौजूद रहे. सभी ने एक सुर में महागठबंधन उम्मीदवार सुखदेव भगत को विजयी बनाने की अपील की. बता दें कि झारखंड में महागठबंधन की पार्टी कांग्रेस, राजद और जेवीएम से बड़ा जनाधार जेएमएम के पास है.

महागठबंधन उम्मीदवार सुखदेव भगत के लिए लोहरदगा लोकसभा सीट में वोट मांगने के उद्देश्य से जेएमएम नेता सह पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने गुमला के रायडीह, बिशुनपुर और सिसई में चुनावी सभा को संबोधित किया. सबसे पहले हवाई मार्ग से हेमंत सोरेन रायडीह के बख्तर साय मुंडन सिंह स्टेडियम पहुंचे, जहां लोगों ने उनका भव्य स्वागत किया.

हेमंत सोरेन ने पीएम के बुधवार को लोहरदगा की जनसभा को झूठे वादों वाली सभा बताई. उन्होंने कहा कि वर्ष 2014 में लोगों को झूठा आश्वासन देकर मोदी जी सत्ता में तो आ गए, लेकिन किसी गरीब का भला नहीं किया. हेमंत सोरेन ने कहा कि न दो करोड़ लोगों को नौकरी मिली ना ही गरीबी का विकास हुआ और न तो कृषि के क्षेत्र में सही काम हुआ.

उन्होंने केंद्र की मोदी सरकार और राज्य की रघुबर सरकार पर लोगों को गुमराह करने का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि ये लोग केवल औद्योगिक घरानों के लिए काम करते हैं. वहीं इस चुनावी सभा में पहुंचे जेएमएम के बिशुनपुर से विधायक चमड़ा लिंडा ने कहा कि बदलाव अगर करना है तो वोट के हथियार का प्रयोग करने की आवश्यकता है. उन्होंने कहा कि आदिवासी समाज की स्थिति दिन प्रति दिन बदहाल होती जा रही है, उसके लिए सही व्यक्ति का चुनाव करना काफी जरूरी है. हालांकि इस दौरान आदिवासी की बदहाली के लिए उन्होंने बीजेपी के साथ ही कांग्रेस और राजद प्रमुख लालु यादव को भी जिम्मेदार ठहराया है.

वहीं आलमगीर आलम ने कहा कि युवाओं की स्थिति इतनी खराब हो गई है कि उन्हें रोजगार नहीं मिल रहा है. उन्होंने कहा कि 2019 में अगर बीजेपी की सरकार आई तो वे देश के युवा से भीख मंगवाने का काम करने को कहेंगे और इसे भी एक रोजगार बताएंगे.

बहरहाल, लंबे समय के बाद चमड़ा लिंडा ने महागठबंधन उम्मीदवार के पक्ष में चुनावी दौरा शुरू कर दिया है, उनके मैदान में प्रचार के लिए आने से कितना फायदा कांग्रेस उम्मीदवार को मिलता है यह तो आने वाला समय बताएगा. वहीं हेमंत और आलमगीर आलम ने लोगों को महागठबंधन के प्रति आकर्षित करने की पूरी कोशिश की है.

ये भी पढ़ें:- पूर्व सांसद फुरकान अंसारी के बगावती तेवर! गोड्डा सीट के लिए खरीदा नामांकन पत्र 
Loading...

ये भी पढ़ें:- कभी थे सियायी दुश्मन..आज हैं दोस्त, पढ़ें दुमका सीट पर शिबू- बाबूलाल के मुकाबले का दिलचस्प किस्सा

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स  

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गुमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 25, 2019, 4:37 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...