लाइव टीवी

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा- पुलिस की गोली से नहीं बल्कि चाकू के हमले से हुई जिलानी अंसारी की मौत

News18Hindi
Updated: December 9, 2019, 7:11 AM IST
पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा- पुलिस की गोली से नहीं बल्कि चाकू के हमले से हुई जिलानी अंसारी की मौत
पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि जिलानी अंसारी की मौत चाकू के हमले से हुई हैं. (प्रतीकात्मक फोटो)

पोस्टमार्टम (Post Mortem) रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि जिलानी अंसारी की मौत पुलिस (Police) की गोली से नहीं बल्कि चाकू के हमले से हुई हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 9, 2019, 7:11 AM IST
  • Share this:
गुमला. झारखंड विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के मतदान के दौरान सिसई के बघनी गांव बूथ नंबर 36 पर शनिवार को हुई मौत के मामले में नया मोड़ आ गया है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि जिलानी अंसारी की मौत पुलिस की गोली से नहीं बल्कि चाकू के हमले से हुई हैं. उक्त जानकारी एडीजी अभियान मुरारी लाल मीणा ने रविवार को पुलिस मुख्यालय में प्रेसवार्ता करके दी.

उन्होंने कहा कि जिलानी को आपसी रंजिश के तहत किसी शख्स ने चाकू मारा है, जिसके कारण जिलानी की मौत हुई है. पुलिस ने मामला दर्ज कर अज्ञात हमलावर की तलाश शुरू कर दी है. पुलिस की टीम अभी भी गांव में कैंप कर रही है और शांति बहाली की दिशा में हर संभव प्रयास किये जा रहे हैं. रविवार की अहले सुबह बघनी गांव में एसडीपीओ नागेश्वर प्रसाद की अगुवाई में फ्लैग मार्च भी निकाला गया.

शांतिपूर्ण हैं हालात
पुलिस प्रशासन की सक्रियता के चलते स्थिति को नियंत्रण में किया गया है. घटना के दिन शनिवार से ही पुलिस बघनी गांव में कैंप किए हैं और वर्तमान में स्थिति नियंत्रण में है. वहीं जिलानी अंसारी का अंतिम संस्कार रविवार को बघनी कब्रिस्तान में कर दिया गया.

अंतिम संस्कार में लोहरदगा, गुमला, रांची, कई लोग शामिल हुए. सात दिसंबर मतदान के दिन की घटना के बाद सिसई विधान सभा बघनी बूथ नंबर 36 का वोटिंग रद्द कर दिया है. जिसके बाद 9 दिसंबर सोमवार को बूथ नंबर 36 में री पोलिंग कराया जाएगा.

क्या था पूरा घटनाक्रम
झारखंड में दूसरे चरण के मतदान के दौरान सिसई विधानसभा क्षेत्र के 36 नम्बर बूथ पर फायरिंग की घटना हुई है थी. फायरिंग के बाद बूथ पर मतदान रद्द कर दिया गया था. घटना के बाद वरीय पदाधिकारी मौके पर पहुंचकर मामले को शांत कराने में जुटे थे.ग्रामीणों के दो गुटों में झड़प हुई, जिसको शांत कराने की कोशिश में पुलिसवालों को फायरिंग करनी पड़ी थी. इसमें दो ग्रामीणों को गोली लगी थी. उनमें से एक ग्रामीण की मौत हो गई. वहीं ग्रामीणों की पत्थरबाजी में पुलिस के कई जवान घायल हुए थे. सिसई थाना प्रभारी भी घायल हुए हैं.

ये भी पढ़ें- Jharkhand Assembly Election (2nd Phase): नक्सलियों ने बस को जलाया, डर से बूथों पर नहीं पहुंचे मतदाता

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गुमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 9, 2019, 7:11 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर